Breaking News:

आजादी का नारा कन्हैया के लिए सरकारी ही नहीं बल्कि जनता का भी सवाल बना.. कईयों ने पूंछा बिहार में- “किस आज़ादी के नारे लगाये थे”

देश की राजधानी दिल्ली में स्थित प्रतिष्ठित यूनिवर्सिटी में “आजादी” तथा “भारत तेरे टुकड़े होंगे” जैसे देशद्रोही नारे लगाने का आरोपी कन्हैया कुमार माननीय बनने के ख्वाब देख रहा है. वामपंथी दल सीपीआई के टिकट पर बिहार की उस लोकसभा सीट बेगूसराय से चुनावी मैदान में है जहाँ से भारतीय जनता पार्टी के कद्दावर फायरब्रांड नेता तथा केन्द्रीय मंत्री गिरिराज सिंह चुनावी मैदान में है. इस समय पूरे देश की निगाहें बेगूसराय पर टिकी हुई हैं क्योंकि इस सीट पर एकतरफ वो गिरिराज सिंह चुनाव लड़ रहे हैं जो अखंड भारत की बात करते हैं तो वहीं दूसरी तरफ वो कन्हैया कुमार है जो देश के टुकड़े के नारे लगाने का आरोपी है.

बांग्लादेशियों को बुलाया गया था प्रचार के लिए.. पहले एक वापस किया गया था, अब दूसरे के लिए आया नया आदेश

बेगूसराय में चुनाव प्रचार में जुटे सीपीआई उम्मीदवार कन्हैया कुमार को आम जनता के तीखे सवालों का सामना करना पड़ रहा है.. वो सवाल जो कन्हैया की बोलती बंद कर रहे हैं. चुनाव प्रचार के दौरान कन्हैया कुमार उस समय हक्के बक्के रह गये जब स्थानीय युवाओं से उनसे सवाल पूंछा कि आपको आजाद देश में कौन सी आजादी चाहिए. जब तक कन्हैया के कुछ समझ आता, युवाओं ने एक के बाद एक कन्हैया पर सवाल दागे और बड़ी-बड़ी बातें करने वाले कन्हैया की जुबान बंद हो गई.

असली रंग में आ गए दिग्विजय सिंह.. बोले – “हिंदुत्व शब्द मेरी डिक्शनरी में है ही नही”

मटिहानी प्रखंड के रामदिरी में लोगों ने सीपीआई उम्मीदवार कन्हैया कुमार का विरोध किया. स्थानीय युवाओं ने कन्हैया को वोट लेने से पहले लोगों का दिल जीतने की नसीहत दे डाली. सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें कन्हैया कुमार के रोड़ शो के दौरान एक युवक सवाल करता नजर आ रहा है. हुआ यूं कि कन्हैया कुमार को बेगुसराय के रामदिरी गांव में कुछ लोगों ने रोक लिया. इस दौरान एक शख्स उनसे पूछ बैठा आपको किस तरह की आजादी चाहिए?

जिस मस्जिद को मुस्लिमों द्वारा ऐतिहासिक बोला जाता था, अब उस मस्जिद में खुला वो सब जिसको वो मानते हैं हराम.. आखिर कौन सा देश है ये?

युवा ने कन्हैया से पूंछा कि देश में गरीब आजाद नहीं घूम रहे हैं? गरीबों को किसने पकड़कर रखा है? वह शख्स यहीं नहीं रुका उसने कहा कि तुम हमारे नेता बनने चले हो… बनो अच्छी बात है. भारत तेरे टुकड़े होंगे इंशा अल्लाह.. इंशा अल्लाह… के नारे तुमने लगाए. इस पर कन्हैया कुमार कहते हैं तुम भाजपा से हो क्या? इस पर वह शख्स कहने लगता है कि वह नोटा को समर्थन करने वालों में से है. इसके बाद लोग देशद्रोही मुर्दाबाद का नारा लगाने लगते हैं. विवाद बढ़ता देख स्थानीय पुलिस ने जैसे तैसे ग्रामीणों को शांत कराया फिर कन्हैया कुमार के काफिले को आगे जाने दिया.

पाकिस्तान के जिस व्यक्ति ने जल्लाद ओसामा को कभी शरण दी थी.. जानिये इमरान खान ने उसका क्या किया?

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने व हमें मज़बूत करने के लिए आर्थिक सहयोग करें।

Paytm – 9540115511

Share This Post