एक मुख्यमंत्री व् 3 उपमुख्यमंत्री के फार्मूले पर चल रहा विचार

उत्तर प्रदेश में प्रचण्ड जीत के बात मुख्यमंत्री पद की घोषणा के ठीक पहले भारतीय जनता पार्टी में १ मुख्यमंत्री व् 3 उपमुख्यमंत्री फार्मूले पर चल रहा है गम्भीरता से विचार  … 

विधानसभा चुनावों में मिली जीत के पीछे भाजपा का कानून व्यवस्था पर बार बार सवाल उठाना एक बड़ा कारण रहा  ,, उत्तर प्रदेश की जनता भी बिगड़ती क़ानून व्यस्वथा से तंग थी… तमाम दंगों व् साम्प्रदायिक तनावों के बाद एकतरफा कार्यवाही से एक बड़ा समाज बेहद आहत था  …

ऐसे में भारतीय जनता पार्टी के पास इस बिगड़ी स्थिति को सुधारना बहुत बड़ी जिम्मेदारी है और इसी जिम्मेदारी को ध्यान में रख कर वरिष्ठ भाजपा नेता उत्तर प्रदेश की कानून व्यवस्था पर सघन दृष्टि रखने के लिए 3 उपमुख्यमंत्रियों के विकल्प पर गम्भीरता से विचार कर रहे हैं … बिजली पानी और सड़क की खस्ताहाल हालत को भी ध्यान में रखा जा रहा … 

भाजपा पहले से ही छोटे प्रदेशों के पक्ष में रही है … उत्तराखंड , छत्तीसगढ़ व् झारखण्ड के विभाजन के बाद उत्तर प्रदेश की ये दूरगामी सोच हो सकती है  … इसी सोच के चलते भाजपा पूर्वी उत्तर प्रदेश , पश्चिमी उत्तर प्रदेश व् बुन्देलखण्ड के लिए अलग अलग 3 उपमुख्यमंत्री प्रस्तावित करने पर गम्भीरता से विचार कर रही है  ..

अंतिम निर्णय की प्रतीक्षा है  ..

Share This Post