कांग्रेस ने अम्बेडकर जी के अंतिम संस्कार के लिए दिल्ली में नही दिया था स्थान- सांसद मनोज तिवारी दिल्ली

जहाँ एक तरफ जब गुजरात के करोडो लोग अपने मताधिकार का प्रयोग करने के लिए घरों से निकलने की तैयारी कर रहे थे वहीँ दूसरी तरफ राजनैतिक आरोप प्रत्यारोपों से चुनाव के घमासान का पारा बढ़ता जा रहा है . जहाँ कांग्रेस ने हार्दिक पटेल , जिग्नेश आदि को जोड़ कर वो हर सम्भव प्रयास किया जो विकास के मुद्दे पर लड़े जा रहे इस चुनाव को कहीं न कहीं से जातिवाद की आग में झोंक सके . 

कांग्रेस की गुजरात में अपनाई जा रही इसी नीति पर वार करते हुए भाजपा के दिल्ली के सांसद श्री मनोज तिवारी जी ने सनसनीखेज आरोप लगाते हुए कांग्रेस से ऐसा सवाल किया जो कहीं न कहीं कांग्रेस को सवालों के घेरे में खड़ा करने के साथ एक ऐसे इतिहास को सामने ला सकता है जो आज तक जनमानस से छिपा कर रखा गया था . श्री मनोज तिवारी जी ने सनसनीखेज रूप से खुलासा किया कि कांग्रेस ने कभी भीम राव अम्बेडकर जी के स्वर्गवास के बाद उनकी अंतिम क्रिया के लिए दिल्ली में जमीन तक देने से इंकार कर दिया था . 

श्री मनोज तिवारी जी के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से किये गये इस ट्विट में श्री तिवारी गुजरात की एक बड़ी जनसभा में दिख रहे हैं और उन्होंने कांग्रेस को बुरी तरह से आड़े हाथो लिया . राहुल गाँधी के हर प्रयासों को आखिरकार निष्फल होना है ऐसा श्री तिवारी जी ने कहा . यद्दपि श्री अम्बेडकर जी के बारे में तिवारी जी का बताया गया तथ्य जनमानस के लिए एकदम नया और अप्रत्याशित है जिस पर निश्चित तौर पर कांग्रेस को सफाई देनी चाहिए क्योकि भाजपा के कई प्रवक्ता इस से भी पहले कई बार कांगेस पर क्रान्तिकारियो की उपेक्षा का आरूप लगा चुके हैं  अब ये नया आरोप कांग्रेस के उस दलित कार्ड और दलित राजनीति को कहीं न कहीं सवालों के घेरे में खड़ा करता है जो कांग्रेस और ख़ास कर राहुल गाँधी के लिए इन चुनावों में मुसीबत खड़ी कर सकता है . 

Share This Post

Leave a Reply