कांग्रेस में चौतरफा घमासान.. मध्य प्रदेश में आपस में भिड़े कमलनाथ – दिग्विजय और सिंधिया तो दिल्ली में संदीप दीक्षित और पी सी चाको में ठनी

आने वाले कई राज्यों के अतिमहत्वपूर्ण विधानसभा चुनावो से पहले जहाँ तमाम अलग अलग दल एक हो कर अपनी एकता का प्रदर्शन करने में लगे हुए हैं तो वहीं कांग्रेस पार्टी के लिए ये बेहद ही बुरा समय कहा जायेगा क्योकि उसके दिल्ली से ले कर मध्य प्रदेश तक के कार्यकर्ता ही नहीं बल्कि बड़े और कद्दावर नाम एक दूसरे से उलझ चुके हैं और इसका सीधा असर पड़ रहा है निचले स्तर पर कार्य करने वाले कार्यकर्ताओं पर.. इस घमासान में दिग्विजय , सिंधिया जैसे बहुत बड़े नाम शामिल हैं .

दिल्ली में नए कांग्रेस अध्यक्ष पद की दावेदारी के बीच दिवंगत शीला दीक्षित के बेटे और कांग्रेस नेता संदीप दीक्षित ने दिल्ली कांग्रेस के प्रभारी पीसी चाको को एक चिट्ठी भेजी है. जिसमें उन्होंने दिल्ली की पूर्व सीएम शीला दीक्षित और अपनी मां के निधन के लिए पीसी चाको को जिम्मेदार ठहराया है. संदीप दीक्षित का आरोप है कि पीसी चाको के मानसिक उत्पीड़न की वजह से शीला दीक्षित का निधन हुआ है.  संदीप दीक्षित ने चिट्ठी में कहा कि अगर पीसी चाको शीला दीक्षित के मानसिक उत्पीड़न के लिए माफी नहीं मांगते हैं तो उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी..

उधर मध्य प्रदेश में कांग्रेस के हालात और भी ज्यादा विषम हैं . ज्योतिरादित्य सिंधिया गुरुवार को भिंड पहुंचे थे, जहां वह कार्यकर्ताओं को संबोधित कर रहे थे. इसी दौरान किसानों की कर्ज माफी के मुद्दे पर बात करते हुए सिंधिया ने सरकार के कर्ज माफी के वादे पर सवाल उठाते हुए पूर्ण कर्जमाफी नहीं होने की बात कही. हालांकि, यह पहली बार नहीं है, जब सिंधिया ने कर्जमाफी पर सवाल खड़े किए हैं. वहीं ज्योतिरादित्य सिंधिया के अलावा पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने भी मुख्यमंत्री कमलनाथ का सड़क पर बैठने वाले आवारा पशुओं को लेकर निशाना साधा है और ये संदेश दिया है की कांग्रेस के अन्दर   सब कुछ सही नहीं चल   रहा ..


राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW

Share