किस नई राजनीति पर चल रही कांग्रेस ? पाकिस्तान अच्छा और गुजराती शराबी …..?


लगातार चुनावों में एक के बाद एक गढ़ ध्वस्त होने के बाद क्या कांग्रेस ने अपनी दिशा और दशा दोनों बदल दी है ये अब एक नया और बड़ा सवाल बन चुका है . इस से पहले कांग्रेस के नवजोत सिंह सिद्धू , मणिशंकर अय्यर और दिग्विजय सिंह ने जिस प्रकार से पाकिस्तान के प्रति बयानबाजी की उसको हर किसी ने करीब से देखा और आक्रोश चुनाव में दिखाया भी.. इतना ही नहीं , कांग्रेस की ही करीबी सहयोग NCP के मुखिया शरद पवार और नेशनल कान्फ्रेस के मुखिया फारुख अब्दुल्ला ने भी खुलेआम पाकिस्तान प्रेम दिखाया..

लेकिन २०१४ के लोकसभा चुनावो से पहले जिस प्रकार से कांग्रेस ने हिन्दू और हिंदुत्व को निशाने पर लिया था वो उसकी हार की बड़ी वजह बना था . बीच में अपनी छवि को तोड़ने के लिए राहुल गाँधी के नेतृत्व में कांग्रेस ने बहुत मेहनत की और ज्यादा ध्यान मन्दिरों पर रखा .. उसका सबसे सार्थक असर गुजरात में देखने को मिला था जहाँ भाजपा के कई गढ़ ध्वस्त हो गये थे.. उसी परम्परा से आगे कांग्रेस ने ३ प्रदेशो में धमाकेदार जीत दर्ज की और जीत दर्ज करते ही एक बार फिर से अलग राह पकड़ ली .

उदाहरण के लिए कर्नाटक में हिन्दू नेताओ का एक के बाद एक नरसंहार और उस पर कांग्रेस की चुप्पी . फिर हिन्दू नेताओ की ही कर्नाटक में गिरफ्तारियो पर भी कांग्रेस की सहमति.. लेकिन राज ठाकरे के क्षेत्रवाद पर ऊँगली उठाने वाली कांग्रेस ने अब एक नई परम्परा चला दी है और वो परम्परा है एक प्रदेश के मुखिया द्वारा दूसरे प्रदेश की जनता को अपमानित करना और उनको शराबी जैसे अपमानजनक शब्द बोलना . यहाँ तक की घर घर शराबी होने की बात कहना ..

निश्चित रूप से तो नही लेकिन कुछ लोगों का ये मानना है की ये कांग्रेस का एक नया प्रयोग हो सकता है और इस प्रयोग से कितना फायदा होगा कांग्रस को ये जनता को तय करना है . अशोक गहलोत ने अपने शाशित राजस्थान की प्रशंसा और भाजपा की निंदा के चक्कर में गुजरातियों पर शराबी होने का जो आरोप लगा दिया है उस से आहत गुजराती क्या इस आक्षेप को सह पायेंगे और सह पाएंगे तो कितना सह पायेंगे ये आने वाला समय तय करेगा लेकिन इतना तो निश्चित है की इस बयान ने गुजरात के कांग्रेसियों में एक बेचैनी जरूर पैदा कर दी है..

 

सुदर्शन न्यूज को आर्थिक सहयोग करने के लिए नीचे लिंक पर जाएँ ..

http://sudarshannews.in/donate-online/


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share