Breaking News:

झूठे साबित हुए तमाम जोड़-तोड़ के आरोप… येदियुरप्पा ने दिया मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा

मतगणना वाले दिन से ही कर्नाटक में जो सियासी बवाल मचा हुआ था, आज उसका पटाक्षेप हो गया. तमाम आशंकाओं तथा आरोपों से परे जाते हुए हाल ही में कर्नाटक के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने वाले येदियुरप्पा ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है. बता दें कि भारतीय जनता पार्टी पर आरोप लगाये जा रहे थे कि भाजपा कांग्रेस तथा जेडीएस के विधायकों को तोड़ रही है, लेकिन ऐसा नहीं हुआ तथा फ्लोर टेस्ट से पहले ही मुख्यमंत्री येदियुरप्पा ने राज्य की जनता के नाम के भावुक भाषण देते हुए इस्तीफा दे दिया.

बता दें कि चुनावों में भाजपा ने 104, कांग्रेस ने 78 तथा जेडीएस ने 37 सीटें हासिल की थी, जिसके बाद राज्यपाल के न्यौते पर सबसे बड़ी पार्टी होने के नाते येदियुरप्पा के नेतृत्व में भाजपा ने सरकार बनाई थी लेकिन बहुमत लायक विधायक न जुटा पाने के कारण येदियुरप्पा ने फ्लोर टेस्ट से पहले ही पूर्व प्रधानमन्त्री अटल बिहारी बाजपेयी के अंदाज में अपना पद छोड़ दिया तथा राज्य में भाजपा की सरकार मात्र ढाई दिन ही चल पायी. येदियुरप्पा ने अपने ऊपर लगे उन तमाम आरोपों को भी झूठा साबित कर दिया जिसमें कहा जा रहा था कि भाजपा जोड़ तोड़ कर रही है तथा धन बल का उपयोग कर रही है.

इस्तीफा से पहले येदियुरप्पा ने विधानसभा में भावुक भाषण दिया तथा कांग्रेस व् जेडीएस पर निशाना साधा. येदियुरप्पा ने अपने भाषण में कहा कि राज्य की जनता ने कांग्रेस तथा जेडीएस को पूरी तरह से नकार दिया था तथा भाजपा को स्वीकार किया था लेकिन दोनों ने जनता के खिलाफ जाते हुए भाजपा के रोकने के लिए हाथ मिला लिया. येदियुरप्पा ने कहा कि उन्हें जनता पर भरोसा है तथा जनता कांग्रेस तथा जेडीएस से इसका बदला लेगी. उन्होंने कहा कि वह फिर से जनता के बीच जायेंगे तथा फिर से जीतकर आयेंगे.

Share This Post