“बेटा मर जाना लेकिन सरेंडर मत करना” .. भारत माँ से नफरत करने वाले की माँ दे रही थी ये शिक्षा जब बेटा घिरा था फ़ौज से


उधर नेताओं के बोल गूँज रहे थे कि आतंकवाद का कोई धर्म नहीं होता लेकिन इस तरफ कश्मीर की वादियों में गूँज रही थी एक ऐसी आवाज जो एक बार सोचने पर मजबूर कर देगी कि क्या भारत माता के विरोधियो को यही शिक्षा मिलती है ? वो उस समय फ़ौज से जंग लड़ रहा था और देश के तमाम तथाकथित बुद्धिजीवी और सेकुलर ब्रिगेड के लोगों ने उसके सरेंडर आदि की चाहत अपने मन में पाल रखी थी लेकिन उसी समय उसी आतंकी की वो माँ जिसने उसको पैदा किया था और तथाकथित सेकुलर समाज के लिए वो ममता की मूर्ति रही होगी , उसकी जुबान से निकल रहा था वो सब कुछ जो जिसने भी सुना वही सन्न रह गया ..

जानकारी के मुताबिक घाटी में तेजी से वायरल हो रहा ये ऑडियो शनिवार को कुलगाम के काजीगुंड इलाके में सुरक्षा बलों और आतंकियों के बीच हुई मुठभेड़ के दौरान का है। टीओआई में छपी रिपोर्ट के मुताबिक मुठभेड़ के दौरान जाहिद अहमद मीर उर्फ हाशिम नाम का एक आतंकी भी था, जो कि अपने चार साथियों के साथ एक घर में छिपा हुआ था। बताया जा रहा है कि वहीं से हाशिम ने अपनी मां को फोन किया और बात की। इस बातचीत का आडियो जैसे ही वायरल हुआ वैसे ही दुनिया ने देखा वो स्वरूप जो शायद दुनिया ने पहली बार सुना रहा हो . एक माँ अपनी औलाद को अंतिम सांस तक लड़ने के लिए बोल रही थी .

इसी दौरान जब आतंकी अहमद मीर उर्फ हाशिम ने फोन पर अपनी मां को बताया कि पुलिस सुपरीटेंडेंट ने मुझे और चार दूसरे आतंकियों को घेर लिया है, हम एक घर में हैं। एसपी ने हमें सरेंडर करने के लिए कहा है लेकिन हमने आत्म समर्पण से इनकार कर दिया है। इसी बातचीत में हाशिम की मां ने उससे कहा कि नहीं, तुम सरेंडर क्यों करोगे? उनसे कह दो कि तुम सरेंडर नहीं करोगे। अगर भागने का मौका मिले तो भाग जाओ लेकिन आत्म समर्पण करने के बारे में सोचना भी मत। इस आडियो के आने के बाद पूरे कश्मीर में अलग अलग तरह की प्रतिकिया आई है लेकिन अभी तक मानवाधिकार की बात सिर्फ आतंकियों के लिए करने वालों की तरफ से एक भी शब्द नहीं बोला गया है .


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...