Breaking News:

मां के सामने ही काट डाला गया उसका गला क्योंकि वो मुसलमान तो था लेकिन शिया

उस 6 वर्षीय मासूम बच्चे की गलती सिर्फ इतनी थी कि वह मुसलमान तो था लेकिन वह शिया मुसलमान था. संभवतः अगर वह सुन्नी मुसलमान होता तो उसकी जान बच जाती. लेकिन चूँकि वह शिया मुस्लिम था इसलिए सुन्नी इस्लामिक कट्टरपंथी ने मासूम की मां के सामने ही मासूम का क्रूरतम तरीके से क़त्ल कर दिया. मामला इस्लामिक मुल्क सऊदी अरब के मदीना का है जहाँ 6 साल के बच्चे की कांच की बोतल से गला रेतकर हत्या कर दी गई.

मीडिया सूत्रों के हवाले से मिली खबर के मुताबिक़, छह साल के उस बच्चे का नाम जकारिया अल-जबर था. हत्या के समय जकारिया के साथ उसकी मां भी मौजूद थी. जकारिया की मां अपने बच्चे के साथ मदीना में स्थित मोहम्मद पैगंबर के दरगाह गई थीं. हत्या के समय वहां मौजूद चश्मदीदों ने बताया कि जकारिया और उसकी मां एक टैक्सी से उतरे थे. जिसके बाद उन्हें एक शख्स मिला, जो उनसे पूछ रहा था कि वे मुस्लिम धर्म के किस संप्रदाय से ताल्लुक रखते हैं. शख्स के इस सवाल पर जकारिया की मां ने कहा कि वे शिया मुस्लिम हैं. जकारिया की मां का ये जवाब सुनते ही शख्स वहां से चला गया. कुछ ही देर बाद उनके पास एक कार आकर रुक गई. कार में से एक शख्स बाहर की ओर निकला और उसने कांच की बोतल से जकारिया की गर्दन पर बड़ी ही बेरहमी से हमला कर दिया. हमलावर ने कांच की टूटी हुई बोतल से जकारिया का गला चीर दिया.

शिया मुस्लिमों के एक संगठन ‘शिया राइट्स वॉच’ के मुताबिक, जबेर अपनी मां के साथ हजरत मुहम्मद की कब्र पर जा रहा था. ये मदीना में है. दोनों टैक्सी में थे. रास्ते में एक जगह बच्चे की मां ने कोई दुआ पढ़ी. ये दुआ खास शिया मुस्लिम ही पढ़ते हैं. ये सुनकर टैक्सी ड्राइवर ने उनसे पूछा. कि क्या वो शिया मुसलमान हैं. बच्चे की मां ने जवाब दिया, हां. इसके बाद बच्चे को भूख लगी. उसने मां से कुछ खाने को मांगा. मां ने ड्राइवर से सड़क किनारे कार रोकने को कहा. ताकि वो पास की किसी दुकान से कुछ खाने-पीने की चीज खरीद सके.

‘शिया राइट्स वॉच’ के मुताबिक, ड्राइवर ने जबेर के सिर को पीछे की तरफ से काटा. जब वो ये कर रहा था, तब बच्चे की मां वहीं मौजूद थी. वो रो रही थी. चिल्ला रही थी. फिर वो वहीं बेहोश हो गई. ये घटना दिन के उजाले में हुई. आसपास लोग मौजूद थे. उन्होंने सब कुछ होते हुए देखा, मगर कोई ड्राइवर को रोकने आगे नहीं आया. सन न्यूज़ के मुताबिक, पास ही में मौजूद एक पुलिसवाले ने ड्राइवर को रोकने की कोशिश की. मगर वो बच्चे को नहीं बचा सका.  प्राप्त जानकारी के मुताबिक फिलहाल इस मामले में कोई गिरफ्तारी नहीं हो पाई है. नन्हे जकारिया की हत्या से आहत लोगों ने सोशल मीडिया पर #JusticeforZakaria नाम से कैंपेन भी शुरू कर दिया है.

Share This Post