पादरी बलात्कारी है इसे नहीं मानता था कोई. उस 10 साल की बच्ची ने झोंक दिया खुद को विश्वास दिलाने के लिए


उम्र 10 साल ,उस मासूम ने दूनिया को अभी अच्छे तरीके से पहचाना भी नहीं था और उम्र के इस छोटे पड़ाव पर ही उसका इतना घटिया अनुभव उसे दुनिया से नफरत करना नहीं सिखाएगी तो क्या सिखाएगी ? उस मासूम की बातों पर किसी ने विश्वास नहीं किया जब उसने कहा की ‘ पादरी उसके साथ गलत हरकते करता हैं ‘ फिर उसने वो किया जिसे देख कर सबको उस पादरी से घिन्न हो गई और उसने विश्वास दिलाने के लिए खुद ही अपनी बलात्कार का वीडियो बनाया तब जा के लोगों को विश्वास हुआ।

पीड़ित बच्ची की मुकदमे को लड़ रही मारिया नुनेज़ ने कहा की ‘इस घटना से हम सभी को शर्मसार हो जाना चाहिए’, क्या अपने अंदर के इंसान को उस पादरी ने मार दिया था जो मासूम को भी अपनी हवस शिकार बनाने से नहीं चूका। आपको बता दे की उरुग्वे की रहने वाली 10 वर्षीय इस बच्ची का यौन शोषण उसी की दोस्त के पिता ने किया है। रेप पीड़िता बच्ची ने अपने साथ हुए रेप का वीडियो खुद बनवाया। यह सब उसने अपने साथ हो रही ज्यादती के सबूत जुटाने के मकसद से किया, ताकि उसके परिजनों को उसकी बातों पर यकीन हो सके।

आपको बताते चले की 10 वर्षीय बच्ची अपनी दोस्त के घर खेलने जाती थी. उसी मौके का फायदा उठाते हुए अभियुक्त अपनी बेटी को बाहर भेज दिया करता था, फिर वह पीड़ित लड़की का यौन शोषण करता था।

यह सब लगभग एक साल तक चलता रहा. जब पीड़िता की दोस्त ने खुद उसे बताया कि वह जानती है कि उसके पिता उसके साथ क्या करते हैं। दोनों बच्चियों को लगा कि शायद उनकी बात का कोई विश्वास नहीं करेगा इसलिए उन्होंने इसका वीडियो बनाने पर विचार किया। पीड़ित बच्ची ने वीडियो बनाने के लिए स्कूल से मिले लैपटॉप का प्रयोग किया।

आपको उस बलात्कारी की उम्र जान कर हैरानी होंगी, अभियुक्त की उम्र 62 साल है। पीड़ित बच्ची ने सबसे पहले अपनी चाची को वह वीडियो दिखाया और फिर अपने पिता को इस बारे में जानकारी दी। इसके बाद पिता ने इस वीडियो को सबूत के रूप में पेश किया। आपको ये भी बता दे की बलातकारी पादरी भी हैं। जो 8 साल से उसका बलात्कार कर रहा हैं। 


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share