Breaking News:

धू धू कर के जल रहा ईरान अपने ही घर के चिराग से… अब तक मर चुके 21 लेकिन हंगामा अभी भी जारी

जो मुसलमान और धर्म निरपेक्षता की दुहाई देते रहते है,क्या वो इन तथ्यों से इनकार कर सकते है की इस्लाम प्रेम से नहीं अत्याचार से फैला है.किसी भी मुस्लिम शासक ने हिन्दुओं के साथ समानता का व्यवहार नहीं किया है.इस बात को नाकारा नहीं जा सकता की इस्लाम की शिक्षा के कारण ही मुसलमान क्रूर,अत्याचारी और हिंसक हो जाते है.आपको बता दे की अबतक ईरान में हिंसा फैलानेवाले 400 से ज्यादा लोगों को गिरफ्तार किया जा चूका है.

ईरान के सर्वोच्च नेता अयातुल्लाह अल खामनेई ने देश में हाल की अशांति के लिए देश के दुश्मनों को ज़िम्मेदार ठहराया.इस इस्लामिक राष्ट्र के समक्ष हाल के दिनों में सामने आयी यह सबसे बड़ी चुनौती है.ईरानी अधिकारियों ने का कहना है कि अमेरिका, ब्रिटेन और सऊदी अरब में बनाए गए ऑनलाइन अकाउंटों से प्रदर्शनों के लिए भड़काया जा रहा है.सरकारी टेलीविजन ने मंगलवार को बताया कि मध्य प्रांत इस्फहान के काहदेरीजान शहर में एक पुलिस थाने पर हुए हमले के बाद हिंसा भड़क उठी जिसमें छह प्रदर्शनकारी मारे जा चुके है.टीवी चैनलों का कहना है कि दूसरे बड़े शहर मसहद से शुरू हुई हिंसा में पांच दिन की अशांति के दौरान तकरीबन 21 लोगों के मारे जाने की ख़बर है और वर्ष 2009 में जन प्रदर्शनों के बाद से इसे इस्लामिक सरकार के लिए सबसे बड़ी चुनौती बताया.

खामनेई ने कहा, ‘दुश्मन हमेशा अवसर की तलाश में रहता है और ईरानी राष्ट्र में घुसपैठ और वहां हमला करने के लिये मौके ताड़ता रहता है. यह विरोध नेतृत्वहीन है और प्रांतीय शहरों और कस्बों में केंद्रित है.शनिवार से तेहरान में कम से कम 450 लोगों को हिरासत में लिया गया है.इसके साथ ही इस्फहान शहर में सोमवार को 100 से ज़्यादा लोगों को हिरासत में लिया गया है वही आपको बता दे की राष्ट्रपति हसन रूहानी प्रदर्शनों को तवज्जो नहीं दिया.

रूहानी ने राष्ट्रपति कार्यालय की वेबसाइट पर एक बयान में कहा, ‘यह कुछ नहीं है.हमारा देश उन कुछेक लोगों से निपटेगा जो क़ानून और लोगों की आकांक्षाओं के ख़िलाफ़ नारे लगाते हैं और आंदोलन की पवित्रता तथा मूल्यों का अपमान करते हैं.राष्ट्रपति हसन रूहानी ने माना कि इस्लामिक रिपब्लिक की चरमराती अर्थव्यवस्था को लेकर लोगों में गुस्सा है लेकिन साथ ही उन्होंने चेतावनी दी कि कानून तोड़ने वालों के ख़िलाफ़ कार्रवाई करने से सरकार हिचकिचाएगी नहीं.ईरान के खुफिया मंत्रालय ने एक बयान जारी कर कहा कि उकसाने वाले लोगों की पहचान कर ली गई है और उनसे सख़्ती से निपटा जाएगा.

Share This Post