श्रीलंका में आमने सामने आई मुसलमान और ईसाई.. ईसाइयों ने किये हमले

ईसाईयों के त्यौहार ईस्टर पर श्रीलंका के चर्चों तथा होटलों पर इस्लामिक आतंकियों की भीषण बमबारी के बाद श्रीलंका में ईसाई तथा मुसलमान आमने सामने आ गये हैं. चर्चों पर हमले के बाद श्रीलंका के आक्रोशित ईसाईयों ने मुस्लिमों को निशाना बनाना शुरू कर दिया है तथा उन पर हमले शुरू कर दिए हैं. एकतरफ श्रीलंकाई सत्ता इस्लामिक कट्टरपंथियों के खिलाफ बेहद ही क्रूरता से पेश आ रही है तो वहीं दूसरी तरफ श्रीलंका के ईसाई भी मुस्लिमों को निशाना बना रहे हैं.

अब सहारनपुर से शुरू हुआ हिन्दुओं का पलायन.. घरों पर लगे पोस्टर- “यह मकान बिकाऊ है”

मीडिया सूत्रों से मिली खबर के मुताबिक़, न्यूयॉर्क टाइम्स ने दर्जनों निवासियों के हवाले से कहा है कि श्रीलंका के नेगोम्बो शहर में ईसाई समुदाय के लोग एक-एक कर घरों में पहुंचे और खिड़कियां-दरवाजे तोड़ दिए. लोगों को जबरदस्त खींचकर सड़कों पर लाया गया और उन्हें पीटा गया. मुस्लिम समुदाय के लोगों को मार देने की धमकी दी गई. बता दें कि इस शहर में ईस्टर के अवसर पर हुए धमाकों में 100 से ज्यादा लोगों की मौत हुई थी.

मायावती के करीबी व समाजवादी गठबंधन के प्रत्याशी पर महिला से छेड़छाड़ का आरोप… चुनाव जीतने से पहले ही शुरू हुआ उन्माद

कहा जा रहा है कि कम से कम 700 मुस्लिमों ने अपने घरों को छोड़ दिया है. कई मुस्लिमों ने कहा है कि वे छुपकर रह रहे हैं और सार्वजनिक स्थानों पर जाने से परहेज कर रहे हैं. श्रीलंकाई मुस्लिम औरंगज़ेब जाबी अपने दोस्त के घर भोजन पका रहे थे, तभी भीड़ हाथों में लोहे की रॉड लेकर वहां आ पहुंची. भीड़ ने उस घर को घेर लिया. जाबी ने दो बच्चों को पकड़ा और दीवार फांदकर आर्मी चेकप्वाइंट के निकट पहुंचे. इसी दौरान जाबी को भीड़ ने घेर लिया और पीटने लगे. भीड़ ने सैनिकों से मांग की कि इसे मारने दिया जाए.

बुर्के का विरोध ईरान में करने वाली महिला को मिली ऐसी सजा कि कांप उठेगी रूह.. खामोश हैं बुद्धिजीवी

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने व हमें मज़बूत करने के लिए आर्थिक सहयोग करें।

Paytm – 9540115511


राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW

Share