संसार की महाशक्ति ने वामपंथ को बताया 10 करोड़ लोगों का हत्यारा.. इस्लामिक आतंकवाद के बाद क्या अगला नंबर इसका है ?

22 सितंबर को उस समय दुनिया चौंक गई जब अमेरिका के टेक्सास के ह्यूस्टन के NRG स्टेडियम में हाऊडी मोदी कार्यक्रम में अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भरे मंच से एलान किया है कि वह भारत के साथ मिलकर इस्लामिक आतंकवाद का खात्मा करेंगे. आतंक के खात्मे की बात तो सभी करते हैं लेकिन अपनी छबि ने अनुरूप ट्रंप ने जब इस्लामिक आतंक शब्द का प्रयोग किया तो दुनिया में हलचल होना स्वाभाविक थी. खैर ट्रंप ने कुछ गलत भी नहीं कहा था क्योंकि संसार को सबसे ज्यादा दर्द इस्लामिक आतंक ने ही दिया है, इस्लाम का नाम लेकर फैलाये गये आतंक ने ही दिया है.

इस्लामिक आतंक के बाद संसार के सबसे ताकतवर मुल्क अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने वामपंथ पर निशाना साधा है. वामपंथ पर करारा हमला बोलते हुए डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि इस विचारधारा ने 10 करोड़ से ज्यादा लोगों की हत्याएं की हैं. वही वामपंथी विचारधारा जिसको मानने वाले भारत में बुद्धिजीवी कहे जाते हैं. संयुक्त राष्ट्र महासभा को संबोधित करते हुए अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने वामपंथी विचारधारा पर तीखे वार किये.

राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा कि कम्यूनिस्ट विचारधारा के चलते 10 करोड़ लोग मारे गए. वेनेजुएला में आर्थिक संकट का जिक्र करते हुए ट्रंप ने कहा कि वहां महिलाओं को भोजन तक के लिए घंटों लाइनों में खड़ा रहना पड़ता है. उन्होंने कहा कि वेनेजुएला के हालात हमें बताते हैं कि सोशलिज्म और कम्युनिज्म से गरीबी खत्म नहीं की जा सकती है और यह सिर्फ एक वर्ग के लिए सत्ता का जरिया है. अमेरिका कभी सोशलिस्ट देश नहीं होगा. उन्होंने कहा कि बीती एक सदी में सोशलिज्म और कम्युनिज्म के चलते 10 करोड़ लोग मारे गए हैं.

डॉनल्ड ट्रंप ने कारोबार में असंतुलन को लेकर चीन पर तीखा हमला बोला. ट्रंप ने कहा कि बीते एक दशक में कुछ देशों ने ग्लोबलाइजेशन का बुरी तरह लाभ उठाया है. आउटसोर्सिंग के चलते मिडल क्लास को समस्याएं उठानी पड़ी हैं. मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर में आउटसोर्सिंग के चलते लाखों लोगों को अमेरिका में नौकरियां गंवानी पड़ी हैं. उन्होंने कहा, ‘2001 में चीन WTO में शामिल हुआ था. चीन ने तब उदारीकरण की बात कही थी, लेकिन दो दशक बाद यह बात गलत साबित हुई है.

 

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने के लिए हमें सहयोग करेंनीचे लिंक पर जाऐं


राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW

Share