Breaking News:

एक इस्लामिक मुल्क जिसने “गे’ को मौत देने का एलान किया, वो भी पत्थर मार कर..


यहाँ पर न तो कथित मानवाधिकर वालों का जोर चला और न ही यहाँ पर बुद्धिजीवियों का किसी प्रकार से शोर सुनाई दिया .. भले ही कुछ देशों में समलिंगी सम्बन्धो को बढावा देने के लिए वहां के नेता और अदालतें एकजुट हो गयी हों लेकिन कई ऐसे देश भी हैं जहाँ इस प्रकार के रिश्ते रखने वालों के लिए केवल एक ही सज़ा है और वो है मौत.. इस आदेश को सर्वोपरि मान कर इसको वहां हर किसी को इसका पालन भी करना होगा जिसकी कोई अपील भी नहीं कर सकता है .

इधर मायावती ने खुद की तुलना श्रीराम से की तो उधर बोल पड़ा रावण… सीधी चढाई मायावती के साथी अखिलेश पर

विदित हो कि इस बार ये नियम लागू करने वाला देश बना है इस्लामिक मुल्क ब्रूनेई.. यहाँ के सुलतान ने ऐसा फरमान जारी किया है जो सीधे सीधे समलिंगियो को मौत का आइना दिखाना माना जा रहा है . लगभग 82 प्रतिशत मुस्लिम आबादी वाले देश ब्रूनेई में गत बुधवार से समलैंगिकता विरोधी नए क़ानून लागू हो गए हैं जिनके तहत गे-सेक्स के लिए पत्थर मारकर मौत की सज़ा दी जाएगी . बुधवार को एक सार्वजनिक भाषण में ब्रुनेई के सुल्तान हसनल बोल्किया ने और कड़े इस्लामिक क़ायदे क़ानून को लागू करने की बात कही थी.

पार हो रही राजनैतिक असभ्यता की सभी सीमायें .. अब मंच से योगी आदित्यनाथ को बोला गया “गुंडा”

फिलहाल इस फरमान का कुछ लोगों ने विरोध भी करना शुरू कर दिया है. हॉलीवुड के मशहूर अभिनेता जॉर्ज क्लूनी समेत कई हस्तियों ने ब्रुनेई के सुल्तान के आलीशान होटलों का बहिष्कार करने का आह्वान किया है. लंदन में ‘स्कूल ऑफ़ ओरियंटल एंड अफ़्रीकन स्टडीज़’ के छात्रों ने स्कूल की इमारत का नाम ब्रुनेई गैलरी से हटाकर कुछ और करने की मांग की है. मौत की सज़ा का ये प्रावधान तब लागू होगा जब वो कृत्य करने वाला या तो गुनाह खुद कबूल कर लेगा या कोई 4 अन्य उसके खिलाफ गवाही दे देंगे.. पत्थर मार कर मौत देने की सजा मानवाधिकार का उल्लंघन है जिसको चुनौती देने का साहस अब तक कोई भी समूह नहीं कर पाया है .

चुनाव आयोग ने बदजुबान आजम की जुबान पर लगाया ताला.. क़ानून ने रौंदा गैरकानूनी कृत्य को और आजम खान पर दर्ज हुई FIR


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...