Breaking News:

बंगलादेश में पूजा से लौट रही हिन्दू बालिका का बेहोश होने तक बलात्कार. गुहार लगाता रहा भाई पर कोई न आया


रोहिंग्या मुसलमानों के लिए भारत के मुसलमान आवाज उठाते है किंतु पाक, बांगलादेश के निरपराध हिन्दुआें के लिए भारत के हिन्दू कुछ भी नहीं करते, यह दुर्भाग्यपूर्ण है ! बांग्लादेश प्रोतिदिन में आए समाचार के अनुसार, बांग्लादेश के ठाकुरगांव जिला के रुहिया आखणगड क्षेत्र में एक नाबालिग हिन्दू लडकी पर ५ धर्मांधों ने सामुहिक दुष्कर्म किया । बेहोशी की हालत में पीडिता को नजदिक के अस्पताल में भर्ती किया गया । पीडिता के परिजनो ने आरोपियों के विरोध में रुहिया पुलिस थाने मे अपराध प्रविष्ट किया है ।

२९ सितंबर, रात ८ बजे पीडिता अपने भार्इ के साथ माँ दुर्गा की पूजा कर के पंडाल से अपने घर वापस लौट रही थी . उसको रास्ते में 5 बलात्कारियों ने रोका और वो सभी धर्मांध उस बालिका को उठाकर पास के केरानी ले गए आैर वहीं पर लडकी के साथ सामुहिक दुष्कर्म किया । लडकी का भाई सहायता की गुहार लगाता रहा पर कोई भी नही नहीं था जो उसकी मदद के लिए आता ..धर्मांधों के दुष्कर्म के कारण पीडिता बेहोश हो गर्इ । उसे छसी हालत में छोडकर धर्मांध मौके से फरार हो गए । पीडिता के परिजनों को घटना के बारे में जानकारी मिलते ही उन्होने लडकी को अस्पताल में भर्ती कराया ।
हर हिन्दू को आज अंतर्मुख होकर यह विचार करना चाहिए की बांग्लादेश में हो रहे हिन्दूआें पर अत्याचार से क्या उनके मन में अपने धर्मबंधुआें के लिए कोर्इ संवेदना निर्माण होती है या नहीं ? आज बांगलादेश इस्लामबहुल राष्ट्र है इसलिए वहां अल्पसंख्यक हिन्दुआेंपर अत्याचार हो रहे है । वहां हिन्दुआेंकी घट रही संख्या का मुख्य कारण है धर्मांधों की जिहादी मानसिकता । भारत सरकार ने अब तो बांगलादेश सरकार के पास अल्पंसख्यक हिन्दुआें की सुरक्षा का मुद्दा उठाना चाहिए आैर साथ ही भविष्य में एेसी घटनाएं ना हो इसकी आेर ध्यान दे। भारत में ‘लव जिहाद’ के माध्यम से धर्मांध जिहादी युवक हिन्दु युवतीआें को प्रेमजाल में फंसाकर उनसे निकाह करते है आैर फिर उनका उपयोग केवल अपनी जनसंख्या बढाने के लिए करते है, जिसे हम ‘बच्चे पैदा करने की मशीन’ एेसे भी कह सकते है ।


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share