बंगाल में पकड़ा गया बांग्लादेशियों के लिए पकड़ा गया हथियार.. नकली सेक्यूलरिज्म एक नई दिशा दे रहा देश को


कथित नकली सेक्यूलरिज्म देश को किस खतरनाक दिशा में ले जा रहा है, इसका डरावना स्वरूप एक बार फिर उस पश्चिम बंगाल की सीमा पर देखने को मिला है जहाँ की सत्ता तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता बनर्जी के हाथों में है. वो ममता बनर्जी जो खुद को कथित सेक्यूलर राजनीति का सबसे बड़ा पुरोधा मानती हैं तथा बांग्लादेशी घुसपैठियों व रोहिंग्या आक्रान्ताओं की बड़ी समर्थक हैं. खबर के मुताबिक़, मुर्शिदाबाद और मालदा से लगे बांग्लादेश के सीमावर्ती इलाके से बॉर्डर गार्ड ऑफ बांग्लादेश (बीजीबी) के जवानों ने बड़ी संख्या में आग्नेयास्त्र बरामद किये हैं.

मुख्य समाचार राजनीति राष्ट्रीय राष्ट्रभक्तों के हीरो बने बिजनौर के साहसी और जांबाज़ पुलिस अधीक्षक IPS संजीव त्यागी जिनके निर्देश में पुलिस ने मदरसे में मारा छापा और बरामद किये हथियार

इस दौरान बीजीबी की गोली से एक बांग्लादेशी तस्कर भी जख्मी हुआ है, जिसे गंगा के कछार इलाके में कहीं छिपा बताया गया है. यह घटना बांग्लादेश के चापाई नवाबगंज जिले के शिवगंज थानांतर्गत बाखेरअली इलाके में गंगा के कछार इलाके में हुई है. घटना के बाद से इलाके में हाई अलर्ट जारी किया गया है तथा बंगाल के मालदा और मुर्शिदाबाद के भी सीमावर्ती इलाकों में बीएसएफ ने निगरानी बढ़ा दी है. पता चला है कि हथियारों की खेप बांग्लादेश के आतंकवादी संगठन जेएमबी को आपूर्ति करने के लिए नाव से ले जायी जा रही थी. जब जवानों ने नाव की तलाशी ली तो उसी दौरान एक तस्कर भागने लगा.

केरल का कुकर्मी पादरी.. हॉस्टल में आने वाले बच्चों को बारी बारी बुलाता था अपने पास और हर रात लिखी जाती रही हवस की काली कहानी

बीजीबी सूत्र ने बताया कि हथियार जेएमबी आतंकियों के गुप्त ठिकाने पर भेजे जा रहे थे. बरामद हथियारों में छह विदेशी अत्याधुनिक स्वचालित पिस्तौल, एक रिवॉल्वर, तीन वन शॉटर गन, 10 मैगजीन और 36 राउंड कारतूस हैं. इनकी बाजार में आनुमानित कीमत 10 लाख रुपये है. बीजीबी की 53वीं बटालियन के कमांडेंट, लेफ्टिनेंट कर्नल सज्जाद सरवर ने अपने देश के मीडिया को बताया कि सीमांत पिलर संख्या 27.5 से लगभग 900 गज की दूरी पर बाखेरअली इलाके में बीजीबी के जवानों ने गुप्त सूचना के आधार पर यह अभियान चलाया तथा हथियारों का जखीरा बरामद किया.

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने के लिए हमें सहयोग करेंनीचे लिंक पर जाऐं


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...