सिर्फ 19 साल का था आवेश लेकिन इरादे थे अमेरिका जैसी महाशक्ति को तबाह करने के.. और वो उस पर काम कर भी रहा था


पाकिस्तानी मूल का आवेश चौधरी सिर्फ 19 साल का था जो दुनिया के सबसे ताकतवर मुल्क अमेरिका में रहता था. उम्मीद थी कि आवेश न सिर्फ अमेरिका बल्कि पाकिस्तान की भलाई के लिए काम करेगा, उनको आगे बढ़ाने में अपना योगदान देगा. लेकिन ये उम्मीदें उस समय बेमानी साबित हुईं जब आवेश ने उस अमेरिका को तबाह करने की साजिश रची, जिस अमेरिका में वह रहता था, जिस अमेरिका का वह अन्न खाता था, वहां की हवा में सांस लेता था.

मीडिया सूत्रों के हवाले से मिली खबर के मुताबिक़, पाकिस्तानी-अमेरिकी किशोर आवेश चौधरी ने आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) की ओर से न्यूयॉर्क शहर में आत्मघाती हमलों को अंजाम देने की योजना बनाई और वह दूसरों को भी ऐसा ही अपराध करने के लिए प्रेरित करना व उकसाना चाहता था. अमेरिकी अधिकारियों ने यह जानकारी दी. राष्ट्रीय सुरक्षा के असिस्टेंट अटॉर्नी जनरल जॉन सी. डेमर्स ने शुक्रवार को कहा कि 19 वर्षीय अवैस चौधरी ने आईएस की ओर से न्यूयॉर्क में एक घातक हमले को अंजाम देने की योजना बनाई थी.

प्राप्त हुई जानकारी के मुताबिक़, आवेश को शुक्रवार को एक संघीय अदालत में पेश किया गया और उस पर आईएस को हमला संबंधी चीजें मुहैया कराने में मदद करने के प्रयास करने का आरोप लगाया गया और मजिस्ट्रेट जज जेम्स ओरेनस्टाइन ने उसे जमानत के बिना जेल में रखने का आदेश दिया था. संघीय अभियोजक रिचर्ड डोनोग ने कहा कि चौधरी दूसरों को हमले करने के लिए प्रेरित करने के मकसद से खूनी खेल खेलना चाहता था. उसे गुरुवार को उस समय हिरासत में लिया गया जब वह एक ऑनलाइन विक्रेता के रिटेल आउटलेट पर गियर लेने के लिए गया था, जिसका आर्डर उसने अपने नियोजित हमलों को अंजाम देने के इरादे से दिया था.

शहर के पुलिस आयुक्त जेम्स ओ’नील ने कहा, अवैस चौधरी ने न्यूयॉर्क वासियों को मारने के लिए आईएस के कहने पर ऐसा कर रहा था. जेम्स ने कहा कि इससे पहले कि उसे न्यूयॉर्क पुलिस के ज्वाइंट टेररिज्म टास्क फोर्स और संघीय जांच ब्यूरो (एफबीआई) द्वारा गिरफ्तार किया गया, चौधरी ने सावधानीपूर्वक योजना बनाई, रेकी की, हमले की जगह को चुना और हथियार प्राप्त करने की प्रक्रिया में था. शिकायत में कहा गया कि उसने एक प्रमुख सड़क पर पैदल यात्री मार्गो को भी चुना, जहां वह बम फेंकना चाहता था लेकिन इससे पहले ही उसे गिरफ्तार कर लिया गया.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...