भारत के सेक्यूलर पत्रकार गये थे श्रीलंका में.. ये देखने कि वहां कौन किसके साथ अत्याचार कर रहा है.. लेकिन ये क्या किया श्रीलंका ने

श्रीलंका के चर्चों तथा होटलों पर इस्लामिक आतंकियों के हमले के बाद श्रीलंका जिस तरह से आक्रामक कार्यवाई कर रहा है, उससे दुनिया चौंक गई है. श्रीलंकाई सत्ता तथा सुरक्षा बल कट्टरपंथियों के खिलाफ बेहद ही आक्रामकता तथा क्रूरता से पेश आ रहे हैं. इस बीच श्रीलंका की पुलिस ने भारत के एक फोटो जर्नलिस्‍ट सिद्दीकी अहमद दानिश को गिरफ्तार कर लिया है. यह जर्नलिस्‍ट श्रीलंका में ब्‍लास्‍ट के बाद के हालातों को कवर करने के लिए गए थे कि वहां कौन किसके साथ अत्याचार कर रहा है.

खबर के मुताबिक़, श्रीलंका पुलिस ने भारतीय पत्रकार को एक स्‍कूल में अनाधिकारिक तौर पर दाखिल होते समय गिरफ्तार किया. ज्ञात हो कि 21 अप्रैल को श्रीलंका में आठ सीरियल ब्‍लास्‍ट हुए थे जिसमें सैकड़ों लोगों की मौत हो गई थी. ब्‍लास्‍ट की जांच में भारतीय जांच एजेंसियां, श्रीलंका के सुरक्षाबलों की मदद कर रही हैं. सिद्दीकी अहमद दानिश, जो न्‍यूज एजेंसी रॉयटर्स के लिए नई दिल्‍ली से काम करते हैं। उन्‍हें उस समय हिरासत में लिया गया जब वह नोगोम्‍बो शहर के एक स्‍कूल में अनाधिकृत दाखिल हो रहे थे.

अथॉरिटीज का कहना है कि स्‍कूल में वह जबरन घुसने की कोशिश कर रहे थे. सिद्दीकी को अनाधिकृत तौर पर स्‍कूल में दाखिल होने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है. सिटी मजिस्‍ट्रेट के आदेश पर उन्‍हें 15 मई तक पुलिस की रिमांड पर भेज दिया गया है. लोकल मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक सिद्दीकी जबरन स्‍कूल में दाखिल हुए और उन्‍होंने सेंट सेबेस्चियन चर्च पर हुए हमले में मारे गए बच्‍चों के बारे में जानकारी हासिल करने की कोशिश की. जिस समय वह स्‍कूल में दाखिल होने की कोशिश कर रहे थे, वहां मौजूद बच्‍चों के माता-पिता ने पुलिस को इसकी सूचना दे दी तथा उन्हें गिरफ्तार करवाया.

Share This Post