म्यांमार में चट्टान की तरह अड़ गये बौद्ध… विराथु समर्थक बोले- “हत्यारों को वापस बुलाया तो बुरे होंगे अंजाम”

जहाँ दुनिया रोहिंग्या मुसलामानों की म्यांमार वापसी को लेकर तमाम प्रयास कर रही है ऐसे में म्यांमार के बौद्धों ने रोहिंग्याओं को लेकर बड़ी चेतावनी दी है. दुनियाभर में विख्यात तथा रोहिंग्या उन्मादियों के खिलाफ आक्रामक रुख से कारण संपूर्ण इस्लामिक जगत के दुश्मन बन चुके बौद्ध विराथु के समर्थक चट्टान की तरह एलान कर दिया है कि हत्यारे रोहिंग्याओं को अगर म्यांमार वापस बुलाया तो इसका अंजाम बेहद ही बुरा होगा.

रविवार को बौद्द्धों ने पश्चिमी म्यांमार के राख़ीन के सित्वे शहर में प्रदर्शन करके सरकार से मांग की कि वह बांग्लादेश में शरण लेने वाले रोहिंग्या मुसलमानों को पुनः म्यांमार न आने दे. एक प्रदर्शनकारी ने कहा कि रोहिंग्याओं की म्यांमार वापसी और राख़ीन प्रांत के उत्तरी क्षेत्रों में उन्हें बसाए जाने से देश को कोई लाभ नहीं होगा बल्कि म्यांमार की एकता अखंडता पर ख़तरा बढेगा, जिसे वह किसी भी हालात में स्वीकार नहीं करने वाले हैं.

गौरतलब है कि बांग्लादेश और म्यांमार के बीच होने वाले समझौते के आधार पर बांग्लादेश के काॅक्स बाज़ार क्षेत्र में शरण लेने वाले 2,260 रोहिंग्या मुसलमानों को नवम्बर महीने की समाप्ति से पहले म्यांमार लौटना था लेकिन बांग्लादेश की सरकार ने सुरक्षा की अनुचित स्थिति के कारण इस प्रक्रिया को दस दिन पहले रोक दिया था. ऐसे में एक बार  पुनः रोहिंग्याओं की म्यांमार वापसी मुश्किल हो सकती है क्योंकि बौद्धों के नायाक विराथु के समर्थकों ने रोहिंग्या मुस्लिमों की  वापसी के खिलाफ जंग का एलान कर दिया है.

Share This Post