Breaking News:

पाकिस्तान में आतंकी जब चाहें किसी प्रधानमंत्री तक के व्यक्ति को कत्ल कर दें, आरोप – बेनजीर को मरवाया था लादेन ने

पाकिस्तान की पूर्व प्रधानमंत्री बेनजीर भुट्टो की हत्या के 10 साल बाद पाक की खुफिया एजेंसी आईएसआई की एक रिपोर्ट का खुलासा हुआ है. इसके मुताबिक, बेनजीर की हत्या के पीछे अल-कायदा चीफ ओसामा बिन-लादेन का हाथ था.हालांकि, पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) के अध्यक्ष और बेनजीर भुट्टो के बेटे बिलावल भुट्टो अपनी मां की हत्या के लिए पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ को दोषी मानते हैं.एक इंटरव्यू में बिलावल ने कि मैं और पार्टी दोनों उस लड़के को बेनजीर की हत्या का जिम्मेदार नहीं मानते हैं जिसने मेरी मां पर गोली चलाई.असल कातिल मुशर्रफ है.आपको बता दें, 10 साल पहले 27 दिसंबर 2007 को रावलपिंडी के लियाकत बाग में एक चुनावी रैली के दौरान बेनजीर की हत्या कर दी गई थी.

रैली पर गोली और बमों से हमले किए गए थे जिसमें 21 और लोग भी मारे गए थे.बुधवार को बेनजीर की बरसी थी.बिलावल ने कहा मुशर्रफ ने पाकिस्तान लौटने पर मेरी मां से कहा था कि उनकी सुरक्षा सरकार के साथ सहयोग पर निर्भर करेगी.उन्होंने ने कहा,मेरी मां की मौत एक आतंकी की गोली से जरूर हुई लेकिन उन्हें आसान निशाना बनाया जा सके, इसके लिए मुशर्रफ ने उनकी सुरक्षा हटा दी थी.मैं मुशर्रफ को उनकी हत्या का जिम्मेदार मानता हूं.इससे पहले इसी साल सितंबर में पाकिस्तान सीनेट के चेयरमैन रजा रब्बानी ने भी मुशर्रफ को हत्यारा बताया था.रब्बानी ने मुशर्रफ को पाकिस्तान लौटने और अपने खिलाफ चल रहे केसों का सामना करने के लिए कहा था.

वहीं, आईएसआई के मुताबिक, बेनजीर को मारने का प्लान अल-कायदा चीफ ओसामा बिन लादेन ने बनाया था.’दि न्यूज’ ने रिपोर्ट प्रकाशित की है कि इस साजिश को अंजाम देने के लिए विस्फोटक ओसामा के कूरियर (दूत) ने मुहैया कराए थे. गौरतलब है कि पाकिस्तान की आतंकवाद निरोधक अदालत इस मामले में करीब एक दशक से सुनवाई कर रही थी. इस फैसले की खास बात यह रही कि परवेज मुशर्रफ को भगोड़ा करार दिया. बेनजीर की हत्या के दौरान परवेज मुशर्रफ पाकिस्तान के राष्ट्रपति थे और उन्हें इस मामले में आरोपी बनाया गया था. मुशर्रफ फिलहाल पाकिस्तान से बाहर हैं. उनके पाकिस्तान लौटने पर ही अलग से सुनवाई होगी.

Share This Post