मज़हब के ठेकेदार ध्यान दे.. ब्रिटेन के शाही घराने की होने वाली बहू प्रतिदिन करती हैं योगासन


योग लोगों को जीवन से जोड़ने और मानवता को प्रकृति से जोड़ने की एक प्रक्रिया है। प्रधानमंत्री मोदी इस बात के पर्याप्त साक्ष्य हैं कि योग तनाव और जीवन शैली से संबंधित स्थायी समस्याओं से लड़ने में मदद करता है। भारत के साथ साथ अब योग विदेशों में भी जोरों शोरों से अपनी पहचान बना रहा हैं।

आपको बता दे कि ब्रिटेन का राज घराना इन दिनों सुर्खियों में है। कारण है ब्रिटेन के शाही घराने के बेटे प्रिंस हैरी और उनकी नई मंगेतर मेगन मार्कल।

मार्कल इन दिनों अपनी बॉडी और योग को लेकर ज्यादा चर्चा में दिख रही हैं। मार्कल पहले भी बता चुकी हैं कि फिट रहना उनके जीवन के सबसे खास कामों से एक है। हाल ही में मार्कल ने योग के आसन करते हुए अपनी तस्वीरें शेयर की हैं और कहा है कि वो योग की दीवानी हैं।
योग के बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा, ‘योग मेरे खून में है। मैं इसे बचपन से कर रही हूं। लगातार योग करने के कई फायदे हैं। इससे शारीरिक मजबूती बढ़ती है, शरीर में लचीलापन आता है, एकाग्रता बढ़ती है और ये इंसान को सुकून देता है।’

हाल ही में मेगन ने चार अलग-अलग आसन करते हुए अपनी तस्वीरें शेयर की हैं। ये सभी आसन करते हुए मेगन की शानदार फिटनेस का अंदाजा लगाया जा सकता है।
 साथ ही मेगन मार्कलका कहना है कि योग उनका पैशन है, लेकिन अब सवाल उठता है कि क्या योग करने का चलन राज परिवार में है? बता दें कि राज परिवार के युवा सदस्य – वीलियम, केट और हैरी को स्पोर्ट्स खेलने में ज्यादा दिलचस्पी है। ऐसे में किंग्सटन पैलेस के लिए मार्कल का ये योग प्रेम एक नई चीज होगी।

मार्कल कहती हैं कि उन्हें भी दौड़ना-भागना पसंद है लेकिन उनके अनुसार ज्यादा उम्र में ये चीज शरीर में तनाव पैदा करती हैं।
 साथ ही योग एक्सपर्ट ऐलन ली ने मार्कल की तस्वीरें देखकर उनके योग की काफी प्रसंशा की। उन्होंने कहा कि मार्कल ने योग के वो आसन किए हैं जो काफी मुश्किल हैं लेकिन शरीर की स्ट्रेंथ के लिए बेहद फायदेमंद हैं। उन्होंने कहा कि योग का जन्म पूर्व से हुआ था जिसे कई हजार साल पहले लोग करते थे। इससे शरीर में ऊर्जा के संचालन बना रहता है। और शरीर में स्फूर्ति बनी रहती हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि योग करने से हमारे बॉडी की तमाम विकृतिया दूर हो जाती है जैसे की तेज तेज सांस लेना, सांस लेने से जुडी तमाम बिमारियों का अंत योग के द्वारा होता हैं। 


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share