#IntoleranceGang अब इंग्लैण्ड में भी सक्रिय. आतंकवाद विरोधी प्रधानमन्त्री को मुस्लिम विरोधी बता कर मुस्लिम सांसद ने दिया इस्तीफ़ा

एक तरफ भारत में असहिष्णुता गैंग सक्रिय हो गई है जिसने पहली बार प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी के मनोनयन के बाद अपने पुरष्कार लौटाए थे.. उस समय ऐसा लग रहा था कि शायद कहीं सिस्टम में सुधर करने की जरूरत है और उसी के चलते नरेंद्र मोदी ने भी अपनी दूसरी विजय के बाद एलान किया था कि उन्हें अल्पसंख्यको का विश्वास जीतना है . उसके लिए अभी बाकायदा प्रयास भी शुरू कर दिए गये थे लेकिन तभी दुनिया के दूसरे देशो में भी इसी प्रकार की आवाजें उठनी शुरू हो गई .

इस बार नम्बर ब्रिटेन का है जहा पर एक ऐसा प्रधानमन्त्री नियुक्त हुआ है जिसके आतंकवाद के खिलाफ बहुत बड़ा चेहरा माना जाता है . इन प्रधानमन्त्री को यूरोप का डोनाल्ड ट्रंप भी कहा जाता है जिन्होंने भारी एकमतता से चुना गया है लेकिन अचानक ही उनके चयन पर हंगामा शुरू हो गया है और कहना गलत नहीं होगा कि ब्रिटेन भी उसी प्रकार की असहिष्णुता की भंवर में फंसता जा रहा है जिस प्रकार से भारत में बनाने की कोशिशे की जा रही हैं .

जैसे ही बोरिस जॉनसन का पीएम बनना तय हुआ तो कंजरवेटिव पार्टी के मोहम्मद आमिन ने पार्टी छोड़ने का फैसला ले लिया। उन्होंने पार्टी प्रमुख को अपना इस्तीफा भेजा और साथ ही इसे सार्वजनिक भी किया।मोहम्मद आमिन, कंजरवेटिव पार्टी के मुस्लिम विंग के प्रमुख रह चुके हैं और पिछले 36 साल से पार्टी के साथ हैं। उन्होंने कहा कि अब जो नए प्रधानमंत्री बन रहे हैं, वह नैतिक रूप से ठीक नहीं हैं। यही कारण है कि उन्होंने पार्टी छोड़ने का फैसला लिया है।बोरिस जॉनसन ने हिजाब करने वाली महिलाओं की उपमा बैंक लुटेरों से दी है

Share This Post