Breaking News:

यूएन में किसी भी कीमत पर स्थायी सदस्यता चाहता है भारत, वीटो भी छोड़ने के लिए तैयार

संयुक्त राष्ट्र : यूएन में स्थायी सदस्य के रूप में शामिल होने के लिए भारत सहित जी4 के अन्य देश वीटो के अधिकार को कुछ समय के लिए छोड़ने को तैयार हैं। संयुक्त राष्ट्र सुधार प्रक्रिया को आगे बढ़ाने के प्रयास के तहत जी4 देशों ने कहा है कि वे नए विचारों के लिए तैयार हैं और स्थायी सदस्य के तौर पर अस्थायी रूप से वीटो का अधिकार नहीं होने के विकल्प को लिए भी तैयार हैं।

संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थाई प्रतिनिधि सैयद अकबरूद्दीन ने अंतर सरकारी वार्ता बैठक में एक संयुक्त बयान में कहा कि सुरक्षा परिषद में सुधार के लिए बड़ी संख्या में सदस्य देश स्थायी और अस्थायी सदस्यता के विस्तार का समर्थन करते हैं। इसमें कहा गया है कि संयुक्त राष्ट्र के सदस्य भारी बहुमत से चाहते हैं कि सुरक्षा परिषद में सुधार हो और उसके स्थायी और अस्थायी सदस्यों की संख्या बढ़े।

अकबरुद्दीन ने कहा कि मतभेद वीटो शक्तियों को लेकर है। लेकिन हमारा मानना है कि वीटो कोई संख्या नहीं है ये गुणवत्ता के आधार पर होना चाहिए। जी-4 को स्थायी सदस्यता दे दी जाए, हम वादा करते हैं कि जब तक सुरक्षा परिषद सुधार के बारे में कोई अंतिम फैसला नहीं हो जाता हम वीटो का इस्तेमाल नहीं करेंगे। आपको बता दें कि जी-4 में भारत के अलावा ब्राजील, जर्मनी और जापान शामिल हैं।

सुदर्शन न्यूज को आर्थिक सहयोग करने के लिए नीचे DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW