Breaking News:

डग्गामार हवाई जहाज़, सिर्फ पाकिस्तान में सम्भव

इस्लामाबाद : बस, ट्रेन या डग्गामार वाहनों में आपने लटक कर या सीट ना मिलने पर खड़े हो कर लोगों को कई बार यात्रा करते देखा होगा पर क्या आप जानते हैं कि पाकिस्तान की हवाई जहाजों में भी सीट ना मिलने पर खड़े होकर यात्रा की जा सकती है। 
कुछ ऐसा ही नजारा तब देखने को मिला जब कराची से मदीना जाने वाली पाकिस्तान की फ्लाइट संख्या PK-743 में 7 यात्री 3 घण्टे तक इसलिए खड़े किये क्योंकि फ्लाइट की सारी सीट फुल हो चुकी थी। पाकिस्तान एयरलाइन्स भी इस घटना को पूरी तरह सामान्य बात के रूप में ले रहा है। 
PIA के प्रवक्ता दनयाल गिलानी का कहना है कि जांच कराई जायेगी। पाकिस्तान के कराची से मदीना जाने वाले बोईंग 777 में बैठने की कुल जगह सिर्फ 409 लोगों की थी पर उसमे सवारियां 416 भर ली गईं। यात्रियों का कहना है कि उन्हें कंप्यूटर से छपे हवाई जहाज़ के टिकट के बदले हाथ से लिखे टिकट मिले थे। 
पाकिस्तान एयरलाइंस के द्वारा हुई लापरवाही में एक बड़ी बात यह भी थी कि उड़ान के पहले तक अतिरिक्त यात्रियों के बारे में फ्लाइट के कैप्टन अनवर आदिल को भी नहीं पता थी। उन्हें फ्लाइट टेक-ऑफ करने के बाद यह जानकारी दी गई। पाकिस्तान के डॉन अखबार से हुए इंटरव्यू में फ्लाइट कैप्टन अनवर ने बताया कि उड़ान भरने से पहले उन्हें इसके बारे में नहीं बताया गया। 
उन्होंने कहा कि उड़ान के बाद तात्कालिक लैंडिंग संभव नहीं थी। ऐसा करने से ढेर सारा इंधन लगता और यह एयरलाइंस के हित में नहीं था। इस हालत में जी रहा पाकिस्तान ना जाने किस आधार पर अंतरिक्ष में 14 सैटेलाइट सफलता पूर्वक भेजने वाले भारत को युद्ध की चुनौती देता है। 
Share This Post