Breaking News:

अफगानिस्तान में मदरसे में ब्लास्ट. १ गुरु और 8 शिष्य मौके पर ही मरे

मदरसे को तालीमी इदारा बोला जाता है इस्लाम में . बताया जाता है की यहाँ छात्र इस्लामिक किताबों को पढ़ते हैं और ये भी दावा किया जाता है की इन किताबों को पढ़ कर उन्हें शांति , प्यार और भाईचारा की शिक्षा दिलाई जाती है ..फिर भी एक तालीमी इदारे के अंदर ब्लास्ट होता है , वो भी एक इस्लामिक मुल्क में जहाँ किसी भी प्रकार से किसी अन्य वर्ग के होने की कोई आशंका मात्र नहीं है .. फिर भी हुआ ब्लास्ट ..

अफगानिस्तान के अशांत क्षेत्र परवान में एक मदरसे में हुए ब्लास्ट में कुल 9 लोग मारे गए जिसमे 8 शिष्य और 1 गुरु जी थे जो प्रांतीय उलेमा काउंसिल के अध्यक्ष भी थे . उनकी गिनती वह के प्रमुख विद्वानों में होती थी . बताया जा रहा है की इस ब्लास्ट में वहां तालीम ले रहे 8 छात्र भी मारे गए हैं .. बम मदरसे के ही अंदर एक अध्ययन कक्ष में फिट किया गया था जो शिक्षण समय के ही अंदर फट गया जिस से जानमाल का ज्यादा नुक्सान हुआ . 


इस ब्लास्ट में पाकिस्तान की भूमिका संदिग्ध मानी जा रही है जो आये दिन अपने देश हो रहे ब्लास्ट का दोषी अफगानिस्तान को मान कर उसे अंजाम भुगतने की धमकी देता रहता था . अफगानी एजेंसी इस दृष्टिकोण से भी जान आगे बढ़ा रही है . सुरक्षा बलों ने वहां पहुंच कर छानबीन की है और पाया है. इलाका अभी सुरक्षा बलों के अधीन है . पर एक इस्लामिक मुल्क में ही उनका तालीमी इदारा क्यों उनके ही लोगों द्वारा निशाने पर लिया गया ये अभी जांच का विषय है . 

Share This Post