रमज़ान में डोनाल्ड ट्रम्प का इस्लामिक देशों को ऐसा सन्देश कि वो समझ नहीं पा रहे कि “मुबारकबाद है या चेतावनी” ..

रमज़ान के माह में जहां लगभग सभी देशों के राष्ट्राध्यक्षो व प्रतिनिधियों ने मुस्लिमों और मुस्लिम देशों को खुले दिल से मुबारकबाद देते हुए मुस्लिमों की शान में कसीदे गढ़ते हुए इस्लाम को शांति , प्यार, मोहब्बत का मज़हब बताया है वहीं दूसरी तरफ़ अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने भी मुस्लिमों को रमज़ान मुबारक तो बोला पर साथ मे और भी बहुत कुछ जोड़ दिया ..

डोनाल्ड ट्रम्प ने मुस्लिम देशों को अपने पहले वाक्य में रमज़ान की बधाई दी है .. फिर अगले और बाकी बचे सभी वाक्य में उन्होंने इस्लामिक देशों को मजहबी कट्टरता से दूर रहने की हिदायत दी है .. ट्रम्प ने कहा कि तुम्हारी मज़हबी कट्टरता से दुनिया को बहुत नुकसान पहुच रहा है जिसके चलते तुम्हारी छवि बेहद नकारत्मक बनती जा रही है ..

ट्रम्प ने ज्यादा फोकस मुस्लिम देशों से मज़हबी कट्टरता और आतंकवाद को छोड़ कर शराफत की जिंदगी जीने पर किया.. अब इस्लामिक देश आंकलन करने में लगे हैं कि डोनाल्ड ट्रम्प का ये सन्देश उनके लिए मुबारकबाद है या चेतावनी ??


राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW

Share