योगीराज में उत्तर प्रदेश में आयोजित होने जा रहा है हमास व फिलिस्तीनी आतंकियों के लिए भूख हड़ताल

योगी आदित्यनाथ के शासन में पहली बार ऐसा होने जा रहा है जिसमे हमास के और फिलिस्तीन के वो आतंकी जो इजरायल में आतंकी घटनाओं और नरसंहार के मुजरिम हैं उनके लिए भूख हड़ताल होने जा रही है . वो भी विधिवत घोषणा कर के . कश्मीरी पत्थरबाजों के लिए चला समर्थन अब धीरे फिलिस्तीनी आतंकियों तक पहुंच गया है ..


अलीगढ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के तमाम छात्र फिलिस्तीनी कैदियों के समर्थन में मंगलवार से 24 घंटे की भूख हड़ताल का एलान कर चुके हैं . इस भूख हड़ताल को एक बड़ा आंदोलन बनाने के सारे प्रयास उन छात्रों द्वारा शुरू हो चुके हैं जिसमे सबको शामिल होने का आह्वान किया गया है , सूत्रों के अनुसार इसमें सभी को यूनिवर्सिटी की आर्ट फैकेल्टी में बुलाया गया है . बताया जा रहा है की इजरायल कोई जेलों में आतंकवाद और हत्या के अपराधों में बंद आतंकियों के सर्मथन में यह भूख हड़ताल आज शाम 6 बजे से लेकर कल शाम 6 बजे तक जारी रहेगा . 


आतंकियों के लिए भूख हड़ताल कर रहे हड़तालियों का कहना है की वो इजरायल द्वारा फिलिस्तीन पर हो रहे अत्याचारों का विरोध करेंगे . इस आंदोलन को धार देने की कोशिश कर रही छात्रा गज़ाला के अनुसार इजरायल की जेलों में बंद ३० दिन से अनशन पर बैठे उन आतंकियों का समर्थन करना है जिन्हे इजरायल ने विभिन्न आरोपों में कैद कर के रखा है …. भारत से कभी बाहर ना जाने वाले अलीगढ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के तमाम छात्र यहीं से फिलिस्तीन और इजरायल के सम्बन्धो को अपनी अपनी व्याख्या कर रहे हैं ..


माना जा रहा है की अभी हाल में ही इंगलैंड स्थित यूनिवर्सिटी आफ मैनचेस्टर में इन फिलिस्तीनी आतंकियों के समर्थन में अनशन किया गया था जिसको नजीर बना कर अलीगढ मुस्लिम यूनवर्सिटी के छात्र भी इसी आधार पर अपनी भूख हड़ताल करने जा रहे हैं . गज़ाला अहमद ने समाज के सभी तबकों से इस आंदोलन में भागीदार बनने की गुहार लगाईं है .. ज्ञात हो की जिस ब्रिटेन की यूनवर्सिटी आफ मैनचेस्टर में फिलिस्तीनी आतंकियों के लिए 7 दिन का अनशन आयोजित किया गया था वही ब्रिटेन आज एक बेहद बड़े आतंकी हमले का शिकार हुआ है ..


अलीगढ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के छात्रों को ये भी पता है की इजरायल द्वारा कैद इन आतंकियों के समर्थन में फ्रासं में भी भूख हड़ताल का आयोजन किया गया था जिसमे दुनिया भर की तमाम मस्जिदों में इजरायल के खिलाफ निंदा की गयी थी . फिलिस्तीन के तमाम आतंकी जो इजरायल की जेलों में बंद हैं उन पर आतंक और कत्ल के तमाम संगीन आरोप हैं जिन्होंने जीवन भर मानवता के खिलाफ काम करते हुए अब इजरायल द्वारा पकडे जाने पर मानवता से पेश आने की गुहार लगाई है और भूख हड़ताल शुरू किया है .

Share This Post