दुनिया के सबसे बड़े शिया मजहबी गुरु अयातुल्लाह खुमैनी की दरगाह पर भारी गोलीबारी ..ईरान लहुलुहान

दूसरों से अपने खुद की मज़हबी भावनाओं की कदर करने की सलाह देने वाले अब खुद ही दूसरों की भावनाओं को कुचलने पर लगे हुए हैं . किसी गैर मत वाले की दरगाह जिसमे उसके सबसे बड़े मज़हबी गुरु को दफनाया गया हो , को जिस प्रकार से निशाना बनाया गया है वो निश्चित रूप से बेहद आघात देने के साथ निंदनीय है ख़ास कर उन लोगों द्वारा जो हमला करते समय के ख़ास  किस्म का मज़हबी नारा लगाते हैं .

तेरहान से रही खबर के अनुसार ईरान की संसद के अलावा शियाओं के सर्वोच्च सम्मानित मज़हबी नेता व्  आधुनिक ईरान के संस्थापक माने जाने वाले सर्वमान्य नेता   आयतोल्लाह ख़ुमैनी की समाधि पर भारी गोलीबारी हो रही है .. खुमैनी की दरगाह हर शिया मत के मुस्लिम के लिए इबादत स्थल जैसे ही स्थान रखती है . समाचार एजेंसी रायटर्स के अनुसार  एक आतंकी को गिरफ्तार कर लिया गया है जिस से पूछताछ चल रही है . ख़ुमैनी की समाधि पर आतंकी हमले से पूरी दुनिया के शियाओं में अभूतपूर्व रोष फ़ैल सकता है क्योंकि खुमैनी ना सिर्फ ईरान में आस्था के केंद्र थे अपितु पूरी दुनिया के शिया मत के साथ शान्ति के समर्थक उन्हें एक बड़े नेता के रूप में जानते हैं . 

ईरान की समाचार एजेंसी IRIB के हवाले से आ रही खबर के अनुसार हमलावरों के पास  A K – 47 राइफ़लें थीं. इस खबर की तस्दीक वहां के सांसद श्री इलियास हज़रती ने भी करते हुए बताया , “तीन हमलावर थे जिनमें दो के पास कलाशनिकोव राइफ़लें और एक के पास कोल्ट पिस्टल थी.” गोलीबारी में दरगाह कितनी क्षयग्रस्त हुयी है इसकी रिपोर्ट आना अभी बाक़ी है . 

Share This Post