पाकिस्तान में तोड़ डाला गया हिन्दू मन्दिर. नाले में मिली मूर्तियाँ

आये दिन दुनिया भर को अपना झूठा ज्ञान बांटने वाले पाकिस्तान के लिए यद्द्पि ये सबक लेने वाली बात और घटना थी पर शायद ही वो इस घटना से सीखे तो दूर शर्मिंदा भी हो जहाँ अल्पसंख्यक समुदाय के इंसानो तो दूर देवताओं को भी नहीं बख्सा जा रहा है. एक बाबरी के लिए आये दिन कोई ना कोई संदेश भेजने वाले पाकिस्तान के लिए ये शर्म की बात हो सकती है जहाँ एक मंदिर को बुरी तरह तोड़ कर उसकी मूर्तियां नाले में बहा दी गयी हैं . 

मामला कराची के पास स्थित दक्षिण सिंध प्रांत का है. यहां ३ कट्टरपंथियों ने कराची से लगभग 60 किलोमीटर दूर गारो क्षेत्र में एक हिन्दू मंदिर में जबरदस्त तोड़फोड़ की और मूर्तियों को खंडित कर के उन्हें नाले में फेंक दिया . स्थानीय पुलिस अधिकारी फ़िदा हुसैन ने कहा की ३ व्यक्तियों के विरुद्ध मुकदमा पंजीकृत करवाया गया है जिनकी तलाश की जा रही है और उन्हें जल्द ही गिरफ्तार किया जाएगा . स्थानीय हिन्दू कार्यकर्ता श्री लाल माहेश्वरी जी ने कहा कि रात्रि में १ बजे से 5 बजे के मध्य घाटी हुई या घटना है . जब सुबह स्थानीय लोगों ने मंदिर में प्रवेश किया तो मूर्तियां गायब मिली . 


तलाश करने के बाद मूर्तियां बगल के नाले में पायी गई . प्रभावित क्षेत्र गारो में 2000 परिवार रहते हैं जिनमे अधिकतर हिन्दू परिवार शामिल हैं. पाकिस्तानी कट्टरपंथियों की इस हरकत से वहां के अल्पसंख्यक हिन्दुओं के बीच दहशत का माहौल है . संवेदनहीनता की पराकाष्ठा ये है कि अभी तक किसी भी मुल्ज़िम को गिरफ्तार नहीं किया जा सका है. पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों की सुरक्षा के बड़े बड़े वादे ध्वस्त होते दिख रहे क्योंकि पाकिस्तान अपने गिरेबान में झाँकने के बजाय हमेशा पडोसी के घर में झांकता रहता है और यही वजह है अंतराष्ट्रीय स्तर पर उसकी धूमिल होती छवि का . 

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW