Breaking News:

ठीक पाकिस्तानी फ़ौज की भाषा बोला ISIS.. बोला काफिरों के पूजा स्थल और सैनिक ठिकानों से दूर रहें मुसलमान भाई .. काफ़िर हैं उसके निशाने पर ..पर क्या है ये “काफिर” ?

पाकिस्तान की फौज ने अफगानी जवानों को मार कर जो बयान दिया था बिल्कुल वैसा ही बयान अब ISIS दे रहा है, जिसमे वो मुस्लिमों और गैर मुस्लिमों के कत्ल में होने वाले अलग अलग भावनाओं को प्रदर्शित कर रहा हैं ..

मामला इजिप्ट के चर्च में हुए ब्लास्ट से जुड़ा है जिसे आतंकी संगठन ISIS ने अंजाम दिया था ..इस ब्लास्ट में चर्च में इबादत कर रहे कई स्त्री पुरुष और बच्चे मारे गए थे जिस पर ISIS ने खुशी जाहिर की थी क्योंकि वो गैर मुस्लिम लोग थे .. उसी क्रम को आगे बढ़ाने का फैसला किया है इस्लामिक स्टेट ने और अधिक रक्तपात की धमकी दे कर .. 

इस्लामिक स्टेट ने अपने ही साप्ताहिक समाचार पत्र अल नबा में दिए गए एक इंटरवियू में कहा कि दुनिया से काफिरों को खत्म करना उसकी प्राथमिकता में शामिल है ..मुस्लिम भाईयों से गुजारिश है कि वो काफिरों के पूजा स्थल के साथ उनके सैन्य ठिकानों से दूर रहें क्योंकि वो हमेशा इस्लामिक स्टेट के निशाने पर हैं और वो नहीं चाहते कि उस हमले में कोई मुस्लिम भाई मारा जाय ..

इस्लामिक स्टेट के इस फ़रमान के बाद लोगों में ये जिज्ञासा बढ़ी है कि मुस्लिम भाई और ” काफ़िर” नाम से 2 अलग अलग प्रकार के इंसान होते है क्या ?

और काफ़िर ऐसी कौन सी गलती कर रहे हैं जिसके चलते इस्लामिक स्टेट उन्हें कत्ल करेगा ???

Share This Post