गोली सब्ज़ार अहमद ने कश्मीर में खाई .. चीख पाकिस्तान में सरताज़ अज़ीज़ की निकली

पुरानी कहावत है कि चोर की दाढ़ी में तिनका होता है और वो सब्ज़ार अहमद की मौत के बाद ठीक वैसे ही साबित हो रहा है जैसे बुरहान की मौत के बाद हुआ था ..झूठी आज़ादी की लड़ाई का नाम दे कर पाकिस्तान के पैसे पर पलने वाले भाड़े के टट्टू रूपी आतंकियों का भंडाफोड़ भले ही उनके जीते जी ना हो पर उनकी मौत उन्हें नंगा कर के चली जाती है और एक बार फिर से साबित हुआ ..

सेना के हाथों अंजाम तक पहुच गए कभी शेर बन रहे चूहे सब्ज़ार अहमद की मौत से पाकिस्तान बेहद दुखी है . पाकिस्तान के मुख्य सुरक्षा अधिकारी सरताज़ अज़ीज़ ने इस मुद्दे को संयुक्त राष्ट्र संघ में उठाने का फैसला किया है .. सरताज़ अज़ीज़ के अनुसार भारतीय फौज कश्मीरी मासूमो के साथ अत्याचार व अमानवीय व्यवहार कर रही है जबकि उनकी खुद की पाकिस्तानी फ़ौज के ऊपर दुनिया मे सबसे ज्यादा मानवाधिकार उल्लंघन के आरोप लगे हैं ..

इस से पहले पाकिस्तान बुरहान की मौत से भी बेहद दुखी और परेशान था . आतंकियों की मौत के बाद उनके लिए पाकिस्तानी प्रलाप ये साबित करता है कि कश्मीर में हथियार उठा कर घूम रहे ये नकली आज़ादी के आतंकी कोई सिद्धांत की जंग नही बल्कि पाकिस्तान की गुलामी कर रहे हैं ..

Share This Post