चीन को पता है कि कैसे मिलते हैं फ्री में लड़ने वाले मंदबुद्धि लड़ाके .. इसलिए उसने फिर बचा लिया मसूद अजहर को

चीन को कई कटटरपंथियों की कमजोरी पता है . उसको पता है की क्या कर के तमाम पथभृष्ट लोगों का हीरों बना जा सकता है . उसको पता है की कुछ कानूनी अड़चने डाल कर वो उन तमाम मानसिक रूप से आतंकी हो चुके कट्टरपंथियों का साथ पा जाएगा जो उसके लिए मुफ्त में मरने वाले टट्टू भर होंगे और वो काफी हद तक मानसिक रूप से पागल हो चुके उस वर्ग के खिलाफ अपनी रणनीति में सफल भी हो चुका है ..

पहले पाकिस्तान से दोस्ती फिर डोकलाम सीमा में घुसपेठ, उसके बाद भारत पर हमले की गीदड़ भबकी जब इनसब से भी भारत को चीन झुका नहीं पाया तो

इस्तमाल किया वीटो पावर और रोक लगायी पठानकोट मास्टरमाइंड मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित करने के प्रस्ताव पर. चीन ने अपने वीटो पावर का इस्तमाल कर चालबाजी करते हुए पठानकोट हमले के मास्टर माइंड जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर को संयुक्त राष्ट्र द्वारा

वैश्विक आतंकी घोषित करने के प्रस्ताव पर चीन ने 3 महीने के लिए तकनीकी रोक लगा दी है. इसी साल फरवरी में भी चीन ने मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी

घोषित करने के अमेरिका के प्रस्ताव को संयुक्त राष्ट्र में बाधित किया था.

चीन निरंतर अपने प्रयासों से भारत को झुकाने की कोशिशों में लगा हुआ हैं. लेकिन भारत चीन के हर नापाक मंसूबो का मुहतोड़ जवाब दे रहा हैं. इस बात का

एहसास चीन को भी हैं कि भारत को झुका पाना अब इतना आसान नहीं हैं. इसलिए चीन नए नए तरीके ढून्ढ रहा हैं भारत को नीचा दिखाने के लिए. इतना तो तय है की चीन से ऐसा कर के आतंक प्रेमी कुछ लोगों का दिल जरूर जीत लिया होगा जो उसके लिए मुफ्त के टट्टू साबित होंगे ..

Share This Post

Leave a Reply