अमेरिका से दुश्मनी मोल ले रहा युद्धोन्मादी चीन.. बोला कोरियाई इलाके में जंग बर्दाश्त नहीं


चीन कि चालाकी से हर कोई वाकिफ़ है. चीन गैर जमीनों को हथियाने के लिए बहुत तिकड़म लड़ाता है. चीन वो चालाक भेड़िया है जो दूसरों को आगे कर मलाई खुद चाटता है, अब खुद युद्ध की तरफ कदम बढ़ाने वाला दूसरों को चेता रहा है. विदित हो कि हाल ही में चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने दक्षिण कोरियाई यात्रा के दौरान मून जाइ इन ने कहा कि वे कोरियाई प्रायद्वीप में किसी भी हालात पर युद्ध बर्दाश्त नहीं करेंगे.

मून जे-इन ने कहा कि दक्षिण कोरिया शांतिपूर्ण तरीके से प्रायद्वीप के सवाल के समाधान में जुटेगा और चीन के साथ क्षेत्रीय शांति और स्थिरता बनाए रखने में सहयोग करेगा. चीन ने ये बात तल्ख़ अंदाज में और लगभग चेताते हुए कहा कि वो युद्ध बर्दास्त नहीं करेगा.

मिली जानकारी के मुताबिक जिनपिंग की कोरियाई राष्ट्रपति से बीजिंग में मुलाकात के बाद कहा गया कि दोनों देश उत्तर कोरिया पर पाबंदियों को लागू करने और उस पर दवाब बढ़ाने में सहयोग करेंगें.

बहरहाल, रूस के राष्ट्रपति व्लादीमीर पुतिन और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कोरियाई प्रायद्वीप के बिगडते हालातों और द्वीपक्षीय संबंधों को लेकर चर्चा की है. सूत्रों के अनुसार, पुतिन और ट्रंप की फोन पर भी बातचीत हो चुकी है जिसके दौरान दोनों नेताओं में सहयोग बढ़ाने को लेकर आपस में सहमति जाहिर की है.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share