सरहद पर सेनाओं के अलावा टीवी मीडिया कि भी चल रही है जंग, चीनी मीडिया और भारतीय मीडिया आमने सामने


चीनी सरकार ही नही अब चीनी मीडिया भी पाकिस्तान के साथ मिलकर भारत को अपना निशाना बना रही है। मीडिया भारत की हो या चाइना की हो मिडिया के नियम तो सबके लिए एक होते है। लेकिन चीनी मीडिया अपने अधिकारों के गलत फायदा उठा रही है। दरअसल पाकिस्तान में 2 चीनी नागरिकों की हत्या कर दी गयी है और इसका आरोप कोरियाई पादरियों पर लगाया गया है। सिर्फ इतना ही नही चीनी मीडिया ने इस मुद्दे पर भारतीय मीडिया को भी निशाने पर लिया है।
आपको बता दें कि इस मामले में चीनी मीडिया ने भारतीय मीडिया और दक्षिणी मीडिया पर मामले को बढ़ा- चढ़ाकर दिखाने का आरोप लगाते हुए निंदा भी की है। चीनी मीडिया ने धर्म का प्रचार करने के नाम पर 2 नागरिकों को गुमराह करने का आरोप लगाते हुए, 2 नागरिकों की हत्या का दोषी दक्षिण कोरियाई पादरियों को ठहराया है।
बताते चले कि पाकिस्तान सरकार ने मारे गए 2 चीनी की पहचान ली झिंगयांग (24) और मेंग लसी (26) के रूप में की थी, जिनका मई के अंत में अपहरण कर लिया गया था। ली और मेंग बिजनेस वीजा पर पाकिस्तान में आए थे और बाद में वे पाकिस्तान के क्वेटा में ईसाई धर्म का प्रचार करने लगे थे। 
गौरतलब है कि पाकिस्तान के कब्जे वाले बलुचिस्तान में हाल ही में दो चीनी नागरिकों का अपहरण कर हत्या कर दी गई थी, जिसके बाद चीन लगातार पाकिस्तान से नाराज चल रहा है। इसका उदाहरण अभी हाल में हुए शंघाई सहयोग संगठन के सम्मेलन में देखने को मिला। सम्मेलन में पहुंचे चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने पाकिस्तान के मुखिया नवाज शरीफ से औपचारिक मुलाकात तक नहीं की थी।

सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share