दहल रही है दुनिया एक साथ इतनी लाशें दफन होती देख कर.. श्रीलंका में बड़ी कार्यवाही की तैयारी, जिसमे हटाया गया पुलिस प्रमुख और सुरक्षा प्रभारी

अपनी सेकुलर छवि के लिए विख्यात श्रीलंका को ये दिन देखने पड़ेगे उसने कभी सोचा भी नहीं था , उसके यहाँ पिछले कुछ समय से दंगे चल रहे थे जिसमे मुख्य निशाना बौद्ध बने थे लेकिन उसको उसने गंभीरता से नहीं लिया और उसका अंतिम अंजाम आज सबके सामने है . इसी के साथ श्रीलंका ने अपने देश में घुसे रोहिंग्या को हटाने के लिए कोई गंभीर प्रयास नहीं किये .

साध्वी प्रज्ञा के टार्चर को सही बताते हुए चुनाव लडती 2 पार्टियों ने उड़ाया उनकी चीखों का मजाक

आख़िरकार उसके इस अंजाम को देख कर दुनिया सीख और सबक भी ले रही है .. आतंकवाद के खिलाफ अब संसार एक हो रहा है और उसके स्वरुप को गीर्ट विल्डर्स आदि नेता अपने अनुसार बता रहे हैं . लेकिन दुनिया का एक बड़ा धडा मौके के हालातों को देख कर सहमा सा है और पहली बार ऐसा मंजर देख रहा है जब एक साथ कई लाशें दफनाई जा रही हैं जिसमे महिलाएं और लगभग 45 वो मासूम बच्चे हैं जिनको पता भी नहीं था कि आतंकवाद क्या होता है ?

2 मजहबो के जिस धर्मयुद्ध को बताया था सुरेश चव्हाणके जी ने बिंदास बोल में अब उसी पर लगी मुहर श्रीलंका के रक्षामंत्री द्वारा

इसी के साथ अब इतना खून खराबा देखने के बाद श्रीलंका में भी आतंकियों के दमन की तैयारिया चलने लगी है . श्रीलंका ने आतंकियों के ऊपर पहले से कड़ी कार्यवाही न कर पाने वाले अपने पुलिस प्रमुख पूजित जयासुन्द्रा को पद से हटा दिया है . इतना ही नहीं , उसने अपने सुरक्षा प्रभारी हेमाश्री फर्नान्डो को भी पदमुक्त कर के उनके बदले उन अधिकरियो की नियुक्ति की दिशा में कदम बढाये हैं जो आतंकवाद के दमन के लिए इस से पहले तथाकथित सेकुलर शक्तियों के निशाने पर रहा करते थे …

आतंकियों का गढ़ बना सेकुलर श्रीलंका.. सुबह फिर हुआ एक ब्लास्ट

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने व हमें मज़बूत करने के लिए आर्थिक सहयोग करें।

Paytm – 9540115511

Share This Post