एक ऐसा वायरस जिसने मचा दिया है पूरी दुनिया में तहलका, जानें आप कैसे बचा सकते हैं अपना कंप्यूटर


लंदन : यूरोप समेत दुनिया के कई देशों में कुछ संगठनों पर साइबर हमला हुआ है, जिससें पूरी दुनिया हिल गई। हमले ने ब्रिटेन के हेल्‍थ सिस्‍टम को प्रभवित करने के साथ अमेरिकी अंतरराष्‍ट्रीय कूरियर सर्विस FedEx को प्रभावित किया है। इन साइबर हमलों के बाद कंप्यूटर्स ने काम करना बंद कर दिया।

प्रभावित संगठनों ने कंप्यूटर्स के लॉक होने और बिटकॉइन की मांग करने वाले स्क्रीनशॉट्स साझा किए हैं। ब्रिटेन, अमेरिका, चीन, रूस, स्पेन, इटली, वियतनाम समेत कई अन्य देशों में रेनसमवेयर साइबर हमलों की ख़बर है। ताजा रिपोर्ट के मुताबिक, अब 99 देश इस साइबर अटैक की चपेट में हैं। इसके तहत लगभग 75 हजार कंप्यूटर्स को निशाना बनाया गया है। बता दें कि ब्रिटेन के नेशनल हेल्थ सर्विस को निशाना बनाने वाले इस रैंजमवेयर का नाम WanaCrypt0r 2.0 है।

रैंजमवेयर एक तरीके का मैलवेयर होता है जो कंप्यूटर को रिमोटली लॉक करके डेटा एन्क्रिप्ट कर देता है। इसे डिक्रिप्ट और कंप्यूटर को अनलॉक करने के लिए हैकर्स पैसों की मांग करते हैं। साइबर सिक्योरिटी एक्सपर्ट्स का मानना है कि हैकर्स ने उन तरीकों को अपनाया है जिसे नेशनल सिक्योरिटी एजेंसी ने डेवलप किया था जो हाल ही में लीक हुआ है। इस खतरनाक मैलवेयर को ईमेल के जरिए टार्गेट कंप्यूटर में भेजा जा रहा है।

इतना ही नहीं हैकर्स कंप्रेस्ड और एन्क्रिप्टेड फाइल के जरिए भी कंप्यूटर्स को निशाना बना रहे हैं। ब्रिटेन की नेशनल हेल्थ सर्विस भी इस हमले से प्रभावित हुई है। साइबर सुरक्षा शोधकर्ता के मुताबिक़ बिटकॉइन मांगने के 36 हज़ार मामलों का पता चला है। ये वानाक्राइ या इससे मिलते-जुलते नाम से किए गए हैं, इसके साथ ही कहा कि ये बहुत बड़ा साइबर हमला किया है। एक बार यदि यह मालवेयर कंप्‍यूटर वायरस कंप्‍यूटर सिस्‍टम में प्रवेश कर जाता है तो इस फिर इसको रोकना बहुत मुश्किल होता है।


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...