दलाई लामा बस बहाना, ‘अशांत’ कश्मीर में कर सकते हैं दखलंदाजी

बीजिंग : तिब्बती धर्मगुरु दलाई लामा पांच दिनों के अरुणाचल प्रदेश दौरे पर भारत आए हुए हैं। यहां दलाई लामा ने लोगों को अपना आशीर्वाद दिया और साथ ही भारत के पड़ोसी देश चीन से उनके दौरे को राजनीतिक रंग देने के लिए फटकार भी लगाई।

आपको बता दें कि चीन दलाई लामा के भारत दौरे से घबराया हुआ है। इस पर मीडिया से बात करते हुए दलाई लामा ने जवाब दिया कि कि भारत ने उनका इस्तेमाल कभी भी चीन के खिलाफ नहीं किया है। साथ ही उन्होनें कहा कि ‘चीन में कईं लोग हैं जो भारत को प्यार करते हैं ये सिर्फ कुछ संकिर्ण मानसिकता वाले नेता हैं जो भारत को अलग नजर से देखते हैं।

जो बिल्कुल वैसा ही है जैसे कि वो मुझे राक्षस या शैतान के तौर पर देखते हैं, मैं शैतान तो नहीं हूं। इसी के साथ उन्होनें तिब्बत को विकास की राह पर लाने की भी बात कही। वहीं, चीनी विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हुआ चुनयिंग ने संवाददाताओं को बताया, ”चीन की चिंताओं की उपेक्षा करते हुये भारत ने दुराग्रहपूर्वक चीन-भारत सीमा के पूर्वी हिस्से के विवादित इलाकों में दलाई लामा का दौरा कराया, जिससे चीन के हितों और चीन-भारत संबंधों को गंभीर नुकसान पहुंचा।”

दलाई लामा को निमंत्रण देना अशिष्ट कदम बताते हुए चीन ने धमकी दी है कि बीजिंग ‘अशांत’ कश्मीर में दखलंदाजी कर सकता है। दलाई लामा के दौरे पर तनाव तो बस ताजा मामला है लेकिन हाल के दिनों में पांच ऐसे बड़े मुद्दे हैं जिनपर चीन और भारत जैसी बड़ी शक्तियां आमने-सामने हैं और तनाव किसी भी हद तक जा सकता है।

Share This Post