पकड़ा गया पाकिस्तान वो दरिंदा जिसने किया था मासूम का रेप

विदित हो कि पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के कसूर शहर में सात साल की लड़की का बलात्कार करके उसे बड़ी बेरहमी के साथ मौत के घाट उतार दिया गया था . तभी से ही पुलिस इस केस की छानबीन कर रही थी जिसमें पुलिस को अब बड़ी कामयाबी हासिल हुई है. पुलिस ने इस घटना को वारदात देने वाले आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है. बता दे कि आरोपी पीड़ित लड़की का पड़ोसी ही है.

और इस केस का खुलासा तब हुआ जब पुलिस ने पीड़ित के शरीर पर मिले नमूनों का डीएनए कराया. पुलिस ने पुष्टि की कि लड़की के पड़ोसी संदिग्ध इमरान अली (23) ने जांच टीम के सामने जुर्म कर लिया है. पंजाब के मुख्यमंत्री शहबाज शरीफ ने बताया कि पुलिस ने इमरान अली को गिरफ्तार किया है जो सीरियल किलर है और उसने ही नाबालिग बच्ची का बलात्कार कर उसका कत्ल किया था.

साथ ही उन्होंने कहा की कानून में बदलाव का प्रस्ताव दिया गया है ताकि उसे सार्वजनिक तौर पर फांसी हो सके. इसी के साथ शहबाज ने कहा कि पूरे देश की तरह मै भी इस हिमायत में हूं कि इस शैतान को सार्वजनिक तौर पर फांसी दी जाए लेकिन अब देखना यह है कि इस बाबत कानून में क्या बदलाव किए जा सकते हैं. मैंने मुख्य न्यायाधीश से मामले को जल्द से जल्द निपटाने की गुजारिश की है ताकि यह सीरियल किलर अपने अंजाम तक पहुंच सके.

आपको बता दे कि पुलिस ने इस वारदात के बाद 14 दिनों में 1,150 लोगों के डीएनए की जांच कराई. सुप्रीम कोर्ट ने दोषी को पकड़ने के लिये पुलिस महानिरीक्षक को 72 घंटे की समय सीमा दी थी. घटना के खिलाफ देश में बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन हुए थे. पुलिस ने तय कर लिया था कि ज़ैनब के घर के ढाई किलोमीटर के दायरे में रहने वाले 20 से 45 साल के सभी पुरुषों की डीएनए जांच की जाएगी.

अली का डीएनए 100 फीसदी मैच हुआ है. इसके अलावा अली का डीएनए उन सभी घटनाओं में मैच हुआ जो पिछले कुछ दिनों में इस इलाके में हुई थीं.
पंजाब के मुख्यमंत्री शहबाज शरीफ ने कहा कि इस रेप केस में बहुत तेजी से इंसाफ हो, इसके लिए एक कमेटी बनाई जाएगी. इसके अलावा जिन बच्चियों के साथ पहले भी रेप और मर्डर हुआ था, उनके मां-पिता से भी मुलाकात की जाएगी. एक कमेटी बनाकर केस की सुनवाई रोज़ाना करवाने की कोशिश की जाएगी.

Share This Post

Leave a Reply