Breaking News:

400 से ज्यादा विद्रोहियों की गिरफ्तारी को समर्पण बता रहा है झूठा पाकिस्तान

क्वेटा : पाकिस्तान की क्रूर फौज के अत्याचारों से परेशान हो चुके बेहद अशांत बलूचिस्तान प्रांत में शुक्रवार को पाकिस्तानी फौज ने एक बार फिर अपना क्रूरतम चेहरा दिखाते हुए 434 विद्रोहियों को गिरफ्तार किया, जिसमें तमाम आम नागरिक भी शामिल है। जिन्हें पाकिस्तान आतंकी बता कर सजा देने पर तुला हुआ है। अतंरराष्ट्रीय स्तर पर अपनी आतंकी छवि को नया रूप देने के लिए पाकिस्तान इस क्रूर अभियान को आत्मसमर्पण का नाम दे रहा है।

आत्मसमर्पण करने वाले विद्रोहियों को जिनमें तमाम निर्दोष आम नागरिक शामिल है, उन्हें पाकिस्तान जबरन  प्रतिबंधित संगठन बलोट रिपब्लिकन आर्मी, बलोच लिबरेशन आर्मी और अन्य चरमपंथी संगठनों से जोड़ रहा है। पाकिस्तान के झूठे आरोपों में ये भी शामिल किया जा रहा है कि ये लोग अस्थिर प्रांत बुलचिस्तान के सुरक्षाकर्मियों और कैंपों को कथित रूप से निशाना बना चुके हैं। ज्ञात हो कि पाकिस्तान अब तक 1500 विद्रोहियों की गिरफ्तारी को आत्मसमर्पण का रूप दे चुका है।

बता दें कि बलूचिस्तान में आजादी की मांग पुरानी है और वहां पाकिस्तान का लगातार विरोध होता रहता है। पिछले साल आजादी समर्थकों ने पाकिस्तान का विरोध करते हुए भारतीय झंडा और पीएम नरेंद्र मोदी की तस्वीर लहराई थी। मोदी की जय-जयकार और भारत के प्रति बलूचों और पख्तूनों का लगाव पाकिस्तान को सहन नहीं हुआ और वो क्रूरता और अत्याचार की सीमा को पार करना शुरू कर दिया है। जिसमें इस प्रकार के फर्जी और झूठे आरोप भी शामिल है। जिसमें किसी आम व निर्दोष नागरिक को भी आतंकी बताकर पेश किया जाता है। ठीक, भारत के अपह्रत व्यापारी कुलभूषण जाधव की तरह।

सुदर्शन न्यूज को आर्थिक सहयोग करने के लिए नीचे DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW