सीरिया में अमेरिकी फौज ने गिरफ्तार किया भारत के आदिल को तो अब्बा चीख कर बोला- “मोदी जी बचा लो मेरी औलाद को”

ये खबर उन कथित बुद्धिजीवियों तथा मानवाधिकारियों की आँखें खोलने वाली है जो ये कहते हैं कि गरीबी तथा अशिक्षा के कारण लोग हथियार उठाते हैं तथा आतंकी बनते हैं. भारत के कश्मीर का रहने वाला आदिल न तो गरीब था और न ही अशिक्षित बल्कि उसने आस्ट्रेलिया के क्वींसलैंड से MBA की पढ़ाई की थी. इसके बाद उसने जो किया, उसने गरीबी तथा अशिक्षा से आतंक को जोड़ने वालों के मुंह पर ताला दिया.

आदिल ने MBA के बाद नौकरी/बिजनिस करने के बजाय सीरिया जाकर हथियार उठा लिया तथा इस्लामिक आतंकी दल ISIS जॉइन कर लिया. अब उसका अब्बू पीएम मोदी से चीख चीख कर कह रहा है कि वो उसके बेटे आदिल को अमेरिकी फौज के कब्जे से बचाकर लायें. खबर के मुताबिक़, जम्मू कश्मीर पुलिस ने आदिल के अब्बू का वो आवेदन केंद्र को भेज दिया है जिसमें उसने अपने पुत्र को वापस भारत लाने का अनुरोध किया है.

बता दें कि आदिल अहमद आतंकवादी संगठन आईएसआईएस में शामिल हो गया था और अब सीरिया में अमेरिकी सहयोगी बलों की हिरासत में है. अधिकारियों ने रविवार को बताया कि कश्मीर निवासी आदिल अहमद ने अपनी एमबीए की पढ़ाई आस्ट्रेलिया के क्वींसलैंड से की थी. उसने इस वर्ष के शुरू में सीरिया में आईएसआईएस के अन्य लड़ाकों के साथ अमेरिकी सहयोगी बलों द्वारा पकड़े जाने के बाद आत्मसमर्पण कर दिया था.

बता दें कि आदिल 2013 में सीरिया गया था और अपने परिवार को सूचित किया था कि वह वहां एक एनजीओ के साथ काम कर रहा है. लेकीन वह NGO नहीं बल्कि ISIS से जुड़ गया था. आदिल के अब्बू फयाज अहमद ने कहा कि मुझे उम्मीद है कि राजधानी दिल्ली में नयी सरकार आने के बाद चीजें (पुत्र को वापस लाने की दिशा में) आगे बढ़ेंगी. अधिकारियों ने बताया कि फयाज अहमद की अर्जी आवश्यक कार्रवाई के लिए नयी दिल्ली में केंद्रीय सुरक्षा एजेंसियों को भेज दी गई है.


राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW

Share