इस्लामिक मुल्क ईरान में कुदरत का कहर .. बाढ़ का पानी बहा ले गया 30 को

एक और इस्लामिक मुल्क इस समय जूझ रहा है भारी बाढ़ से और हर तरफ घिरा हुआ पानी ही पानी से . इस देश का नाम ईरान है जो बाढ़ की भयानक विभीषिका से घिरा हुआ है . स्थानीय मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, बाढ़ और भूस्खलन से सैकड़ों लोग घायल हो गए हैं जबकि कई परिवारों को अपना घर छोड़कर सुरक्षित स्थानों पर जाना पड़ा है। ऐसे में कई जगहों पर महामारी फैलने का खतरा भी है जिसके चलते  वहां की आम जनता अस्त व्यस्त है ..

जिस सैम पित्रोदा के खिलाफ देश मांग रहा था कार्यवाही उसके साथ कुछ ऐसी पेश आई कांग्रेस.. वो हुआ जो सोचा भी न था

समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, आईएलएमओ की वेबसाइट में इसके उप प्रमुख मेहर्दद अली बख्शी ने कहा कि मृतकों में दक्षिणी शिराज नगर के 19, उत्तर-पूर्वी कैस्पियन सागर गोलेस्तान प्रांत के पांच, पश्चिमी लॉरेस्तान प्रांत के दो और खुजेस्तान, कोहगिलुए और बोयेर-अहमद, केरमनशाह और सेमनान का एक-एक व्यक्ति है। ईरानियन लीगल मेडिसिन ऑर्गनाइजेशन (आईएलएमओ) ने एक बयान में यह जानकारी दी।

पीएम मोदी ने क्रांति भूमि मेरठ से किया चुनावी अभियान का शंखनाद.. विपक्ष पर किये जमकर वार

ईरान को अस्त व्यस्त कर देने वाली इस बाढ़ से वहां पर कृषि क्षेत्र में अरबों डॉलर का नुकसान हुआ है. इतना ही नहीं इसके चलते ग्रामीण आवासीय इलाकों तबाह हो गए हैं.. ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी ने सभी अधिकारियों को हाई अलर्ट पर रखा है क्योंकि देश के विभिन्न हिस्सों में अब भी बाढ़ आ रही है।

हिन्दू प्रत्याशी को टिकट और उन्हें नहीं, तो ट्रैक्टर ट्राली ले कर पार्टी कार्यालय पहुचे अब्दुल सत्तार और भर लिया वो सब, जो उन्होंने दिया था

Share This Post