न्यूजीलैंड मस्जिद हमला: मृतकों की संख्या बढकर हुई 40 .. घायलों में कईयों की हालात गंभीर

न्यूजीलैंड  के क्राइस्टचर्च की दो मस्जिदों में हुई फायरिंग में मृतकों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है. खबर लिखे जाने तक मृतकों का ये आंकडा बढ़कर 40 पहुँच गया है तो वहीं 50 के करीब घायल लोगों का अस्पताल में इलाज चल रहा है, जिसमें कईयों की हालात गंभीर बनी हुई है. कि हमलावर ने ये हमला लैंड जिहाद तथा धर्मान्तरण के विरोध में किया है. एक मस्जिद में जहाँ 30 लोगों की मौत हुई है तो वहीं दूसरी में 10 लोग मारे गये हैं.

खबर के मुताबिक़, पहला हमला अल नूर मस्जिद में हुआ वहीं क्राइस्टचर्च के उपनगरीय इलाके लिनवुड में भी एक मस्जिद में फायरिंग की गई.  न्यूजीलैंड के पुलिस कमिश्नर ने माइक बुश ने कहा कि जहां तक मेरी जानकारी है इस हमले में कई लोग मारे गए हैं. उन्होंने बताया कि पुलिस ने चार लोगों को हिरासत में लिया है जिसमें एक की पहचान ब्रेंटन टैरंट के रूप में हुई है जो ऑस्ट्रेलिया का रहने वाला है. उन्होंने बताया, ‘तीन पुरुष और एक महिला को हिरासत में लिया गया है. हम स्थिति का जायजा ले रहे हैं. हम अभी नहीं मान सकते कि खतरा टल गया है.

न्यूजीलैंड की मीडिया के मुताबिक, क्राइस्टचर्च के मस्जिदों में फायरिंग का बंदूकधारी ने 17 मिनट तक लाइव वीडियो बनाया. गिरफ्तार बंदूकधारी की पहचान ब्रेंटन टैरंट के रूप में हुई है. 28 वर्षीय ब्रेंटन टैरंट ऑस्ट्रेलिया का रहने वाला है. बंदूकधारी ने पहले डीन एवेन्यू में अल नूर मस्जिद के पास अपनी कार पार्क की. इसे बाद उसने बंदूक निकाला और मस्जिद में घुसते ही अंधाधुंध फायरिंग करने लगा. बताया जा रहा है कि वह आर्मी ड्रेस पहना था और उसने करीब दो मैगजीन फायरिंग की. उसकी गाड़ी में कई और हथियार पड़े हुए थे.

न्यूजीलैंड की पीएम जैसिंडा अर्डर्न ने कहा कि हम जो जानते हैं, उससे लगता है कि हमले की योजना अच्छी तरह से बनाई गई है. संदिग्ध वाहनों से जुड़े दो विस्फोटक उपकरण मिले हैं और उन्हें डिफ्यूज कर दिया गया है. चार गिरफ्तार किए गए हैं. इनमें से एक ने सार्वजनिक रूप से कहा है कि वे ऑस्ट्रेलियाई मूल का है. संयुक्त खुफिया समूह को तैनात किया गया है और पुलिस मामले की जांच कर रही है. सेना के अतिरिक्त पुलिस कर्मचारियों को इलाके में भेजा जा रहा है. एयर न्यूजीलैंड ने आज रात क्राइस्टचर्च से बाहर सभी टर्बोप्रॉप उड़ानों को रद्द कर दिया है और सुबह स्थिति की समीक्षा करेगा. घरेलू और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर जेट सेवाओं का संचालन जारी है. सुरक्षा बढ़ा दी गई है.

Share This Post