इजरायल के बाद जर्मनी में मोदी की दस्तक. दुनिया को बतायेंगे चीन की असलियत

इजराइल को मोदी मय करने के बाद मोदी रथ जर्मनी के लिए रवाना हो गया है। गौरतबल है कि इजरायल का दौरा भारत और इजरायल कुटनीति संबंधों को नए आयाम तक ले जायेगा। जहां कई बड़े समझौतों पर साझा सहमत बनी और दो शसक्त देशों के बीच दोस्ती का नया आयाम तय हुआ। विदेश कूटनीति में नया परवाज जोड़ते हुए प्रधानमंत्री के इजरायल दौरे को विशेषज्ञों ने सराहा वही विपक्ष की बोलती बंद हो गई। 
एक सफल दौरे के बाद मोदी रथ जर्मनी के लिए निकल गया है। जी-20 शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जर्मनी पहुंच गए हैं। भारतीय समयानुसार रात के करीब 12.15 पर पीएम मोदी जर्मनी के हैम्बर्ग पहुंच गये है। पीएम नरेंद्र मोदी के अलावा विश्व की अन्य शीर्ष अर्थव्यवस्था वाले देशों की हस्तियां शुक्रवार को हैम्बर्ग में दो दिवसीय जी-20 शिखर सम्मेलन के लिए जमा होंगे। माना जा रहा है कि आतंकवाद का मुद्दा इस सम्मेलन के केंद्र बिंदु में रहेगा।
सम्मेलन के पहले दिन दो घंटे से अधिक लंबी अनौपचारिक बैठक में इस्लामिक आतंकवाद पर रोक लगाने को लेकर गहन विचार मंथन होगा। जर्मनी के हैम्बर्ग शहर में ये सम्मेलन होगा जो की सरकार विरोधी वामपंथियों का गढ़ भी है। कल से होने वाले जी-20 के शिखर सम्मेलन में जलवायु परिवर्तन और आर्थिक विकास जैसे अहम मुद्दों पर चर्चा होगी। ये देखना अहम होगा की इस जी-20 शिखर सम्मेलन में किन-किन बातों पर चर्चा होगी और किस-किस बातों पर सहमति बनेगी। भारत और चीन की तल्खियों के बीच और क्या जुड़ता है ये भी देखना दिलचसप होगा। 
Share This Post