500 सऊदी सैनिकों के नरसंहार का दावा कर के आहट हुई ISIS से भी बड़े आतंकी दस्तक की.. आखिर कौन है वो ?


इस्लामिक आतंकी दल ISIS के बाद एक और खूंखार आतंकी दल ने अपनी दस्तक से दुनिया में खलबली मचा दी है. खबर के मुताबिक़, यमन में आतंकी दल हूती ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर सनसनीखेज दावा करते हुए कहा है कि उसने एक बड़े हमले को अंजाम देते हुए सऊदी अरब के कम से कम 500 सैनिकों को मार डाला है. साथ ही सऊदी अरब की सेना के 3 ब्रिगेड ने सरेंडर भी किया है, जिनमें हजारों सैनिक शामिल हैं. अपने इस दावे के समर्थन में विद्रोहियों ने वीडियो और तसवीरें भी जारी किया, हालांकि उससे उनके दावे की पुष्टि कर पाना मुश्किल है.

बता दें कि आतंकी दल हूती से जुड़े लोग खुद को आतंकी नहीं बल्कि विद्रोही कहते हैं जो यमन की सत्ता तथा सैनिकों के खिलाफ  नरसंहार कर रहे हैं. हूती के प्रवक्ता मोहम्मद अब्दुल सलाम ने कहा कि सऊदी हमलों के जवाब में किया गया यह हमारा अब तक का सबसे बड़ा ऑपरेशन था. दुश्मनों को भारी नुकसान हुआ है. हमने एक बड़े इलाके को कुछ ही दिनों में उनके कब्जे से आजाद करा लिया है. सलाम ने दावा किया कि जंग के मैदान में अभी भी सऊदी के कई सैनिकों की लाशें पड़ी हैं, और वहां कुछ सैनिक घायल भी हुए हैं.

हूती के प्रवक्ता सलाम ने कहा कि सऊदी अरब के पास जंग से पीछे हटने के सिवाय और कोई चारा नहीं है. सलाम ने कहा कि यदि सऊदी पीछे हटते हैं तो हूती विद्रोही अपने हमले रोक देंगे. हूती द्वारा जारी किए गए वीडियो में कई बख्तरबंद गाड़ियों को जलते हुए दिखाया गया है.  इसके साथ ही वीडियो में भारी मात्रा में हथियार भी नजर आते हैं जो विद्रोहियों के दावे के मुताबिक सऊदी सैनिकों से कब्जे में लिए गए हैं. बता दें कि यमन में साल 2015 से संघर्ष जारी है. तब हूती विद्रोहियों ने राजधानी सना पर कब्जा कर लिया था और राष्ट्रपति अब्दरबू मंसूर हादी को देश छोड़कर भागना पड़ा था.

हूती विद्रोहियों का उत्तरी यमन के ज़्यादातर हिस्से पर कब्जा है.सऊदी अरब राष्ट्रपति हादी के समर्थन में है. सऊदी अरब के अगुवाई वाले गठबंधन ने साल 2015 में हूती विद्रोहियों के ख़िलाफ हवाई हमले शुरू किए थे. ये गठबंधन आज भी लगभग हर दिन हवाई हमले कर रहा है. हूती विद्रोही भी सऊदी अरब पर मिसाइल हमले करते रहे हैं. गृह युद्ध की वजह से यमन गहरे मानवीय संकट में फंस गया है.संयुक्त राष्ट्र के अनुमान के इस संघर्ष की वजह से अब तक  70 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है.करीब एक करोड़ लोग भुखमरी की कगार पर हैं.

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने के लिए हमें सहयोग करें. नीचे लिंक पर जाऐं–


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share