Breaking News:

सौ बच्चों को पैदा करके गुलजार, जान मोहम्मद, मस्तान खान वजीर बोले- ‘पैदा हमने किया संभाल अल्लाह लेगा’

पाकिस्तान में बढ़ती जनसंख्या समस्या बनती जा रही है, वहीं करीब 100 बच्चों के ऐसे 3 पिता भी हैं जिन्हे अपने बच्चों की जरा सी भी फ़िक्र नहीं है. वे बड़े आराम से कह रहे है कि अल्लाह उनकी जरूरतें पूरी कर देगा. पाकिस्तान में 19 साल बाद जनगणना की गई है और उसकी रिपोर्ट जुलाई में आने की संभावना है. जानकारों का अनुमान है कि देश की जनसंख्या करीब 20 करोड़ हो जाएगी जो 1998 में 13.5 करोड़ थी. विश्व बैंक और सरकारी आंकड़ों के मुताबिक, पाकिस्तान एशिया का एक अकेला ऐसा देश है जहां पर जनसंख्या बड़ी तेजी से बढ़ रही है. पाकिस्तान की हर महिला तीन बच्चों की माँ है. सूत्रों के अनुसार पाकिस्तान की बढ़ती जनसंख्या के कारण उसकी अर्थ व्यवस्था पर असर हुआ है.
इधर, 36 बच्चों के पिता गुलजार खान ने कहा, ‘अल्लाह ने पूरी दुनिया और इंसानों को बनाया है, इसलिए मैं बच्चा पैदा करने की प्राकृतिक प्रक्रिया को क्यों रोकूं ? उनका कहना है कि इस्लाम फैमिली प्लानिंग के खिलाफ है. कबायली इलाके बन्नू के रहने वाले गुलजार (57) की तीसरी पत्नी गर्भवती हैं. गुलजार ने बताया, हम मजबूत होना चाहते हैं. उनका कहना है कि क्रिकेट मैच खेलने के लिए उनके बच्चों को दोस्तों की जरूरत नहीं है. 
पाकिस्तान में कई लोगों की गुलजार जैसी सोच है. गुलजार के भाई मस्तान खान वजीर (70) की भी तीन पत्नियां है. वजीर के 22 बच्चे हैं. उनका कहना है कि उनके पोते-पोतियों की संख्या इतनी ज्यादा है कि वह गिन नहीं सकते. वहीं बलूचिस्तान प्रांत के क्वेटा में रहने वाले जान मोहम्मद के 38 बच्चे हैं. उन्होंने बताया था कि वह चौथी शादी करना चाहते हैं, क्योंकि उनका लक्ष्य 100 बच्चे पैदा करना हैं. कोई भी महिला उनसे शादी नहीं करना चाहती, लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी है. उन्होंने कहा, जितने ज्यादा मुस्लिम होंगे, उनके दुश्मन उनसे उतना ही डरेंगे. मुसलमानों को ज्यादा से ज्यादा बच्चे पैदा करने चाहिए. 
Share This Post