चीन में मुसलमानों हो रहा अत्याचार क्या है इमरान खान की जानकारी में?


चीन.. वो चीन जिसके बारे में अक्सर ख़बरें सामने आती रहती हैं कि वहां की सत्ता मुस्लिमों को प्रताड़ित करती है, मजहब के आधार पर उनका उत्पीड़न करती है. पिछले दिनों ये भी ख़बरें सामने आई थी कि चीन में इस्लाम के नियमों में परिवर्तन किया गया है तथा उनमें चीन के वामपंथी नियमों को जोड़ा गया है. पूरी दुनिया चीन में मुस्लिमों की इस स्थिति के बारे में जानती है लेकिन पाकिस्तान के प्रधानमन्त्री इमरान को चीन में मुस्लिमों पर हो रहे अत्याचार के बारे में पता है?

पीएम मोदी की जिस कविता को सुन उठ खड़ी हुई थी देश की जनता, उस कविता को आवाज दी स्वर सम्राज्ञी लता मंगेशकर ने.. सामने आया वीडियो

आतंकी मुल्क पाकिस्तान के पीएम इमरान खान से जब चीन में मुस्लिमों के उत्पीड़न के बारे में पूंछा गया तो उन्होंने कहा कि उन्हें इस बारे में जानकारी नहीं हैं. पूरी दुनिया के मुस्लिमों के रहनुमा बनने का दावा करने वाले इमरान को चीन के मुस्लिमों की जहन्नुम भरी जिन्दगी के बारे में नहीं पता, ये आश्चर्य पैदा करता है. कहा तो ये भी जा रहा है कि इमरान को पता तो सब है लेकिन वह जानबूझकर अनदेखा कर रहे हैं. शायद वह जानते हैं कि अगर वह चीन के खिलाफ एक शब्द भी बोले तो चीन उनकी भी गर्दन मरोड़ सकता है.

पीवी सिंधु- किदांबी श्रीकांत इंडिया ओपन में जीत से दो कदम दूर.. पी कश्यप भी सेमीफाइनल में लेकिन प्रणय को मिली हार

बुधवार को ‘फाइनेंशियल टाइम्स’ की स्टेफनी फिंडले को दिए एक साक्षात्कार में इमरान खान से जब पूछा गया कि वे चीन में रहने वाले वीगर मुसलमानों के बारे में क्या सोचते हैं तो इमरान ने कहा, ‘सच कहूं तो मुझे इस बारे में ज्यादा जानकारी ही नहीं है.’ उन्होंने यह तो माना कि वे पूरी दुनिया के मुसलमानों के लिए आवाज उठाते रहे हैं लेकिन गोलमोल जवाब देते हुए कहा, मुस्लिम दुनिया बेहद ही बुरे दौर से गुजर रही है. ऐसे में हर चीज की मुझे जानकारी नहीं है, क्योंकि इस बारे में ज्यादा खबरें भी नहीं छपती हैं. बता दें कि पीओके से कई पाकिस्तानी मुस्लिम चीन द्वारा हिरासत में ली गईं उनकी बीवियों को बचाने के लिए सीमा पार गए हुए हैं. लेकिन इस मामले में भी इमरान से जब पूछा गया तो उन्होंने कहा, ‘मैंने इसके बारे में कुछ नहीं सुना है.’

एक ऐसा विधायक जिसने मुख्यमंत्री को भेज दिया इस्तीफ़ा.. वो अपनी ही सरकार में परेशान है माफियाओं से.. आखिर कौन है वो और कौन सी है सरकार ?


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...