भारतीय सेना के बाद अब भारत की ख़ुफ़िया एजेंसियों ने किया कुछ ऐसा जो दुनिया को चौंका गया .. मामला श्रीलंका इस्लामिक आतंकी हमले से जुड़ा हुआ

कभी भारत के ही अन्दर होने वाला श्रृंखलाबद्ध धमाकों के लिए जिम्मेदार ठहराई जाने वाली ख़ुफ़िया एजेंसियों की पीठ अब संसार थपथपा रहा है क्योंकि उसने वो सब कर दिखाया जो श्रीलंका अपने ही देश में करना तो दूर सोच भी नहीं पाया. सेकुलरिज्म के किसी अन्य रूप में भले ही श्रीलंका ने भारत की बात को अनसुना किया हो लेकिन आख़िरकार उसकी यही अनदेखी अब उसके 300 से ज्यादा नागरिको पर भारी पड़ी जो अपनी सरकार को आज भी दोष दे रहे हैं .

24 अप्रैल- “स्थापना दिवस” भारतीय सेना की सबसे विध्वंसक बटालियन “गोरखा रेजिमेंट”. करें उन तमाम अमर योद्धाओं को नमन जो जान पर खेल हमारे लिए

विदित हो कि भारत की ख़ुफ़िया एजेंसियों ने पहले ही श्रीलंका को चेतावनी दे दी थी कि वो ईस्टर के दिन सतर्क रहे क्योकि कुछ बुरा हो सकता है . इतना ही नहीं , भारत की ख़ुफ़िया एजेंसियों ने बाकायदा चर्चो आदि का भी जिक्र किया था जिसमे वहां पर विशेष चौकसी बरतने की सलाह दी थी , लेकिन जिस प्रकार से पाकिस्तान का दौरा करने पर श्रीलंका ने भारत की बात नहीं मानी थी ठीक वैसे ही इस बार भी श्रीलंका ने भारत की बात को अनसुना कर दिया था जिसका प्रतिफल दुनिया ने दिखा .

पवित्र देवभूमि प्रयागराज के दुर्दांत अपराधी अतीक अहमद को अदालत ने दिन में दिखाए तारे.. सभ्य समाज में हर्ष की लहर

इसी के साथ भारत की ख़ुफ़िया इनपुट का संसार भी प्रशंसक हो गया है क्योकि ये इनपुट रूस , चीन , अमेरिका और इजरायल की एजेंसिया भी नहीं दे पाई थी . एक श्रीलंकाई रक्षा सूत्र और भारत सरकार के एक सूत्र ने न्‍यूज एजेंसी से कहा कि ‘भारतीय खुफिया अधिकारियों ने चर्चों पर एक विशिष्ट खतरे की चेतावनी देने के लिए पहले हमले से दो घंटे पहले अपने श्रीलंकाई समकक्षों से संपर्क किया था’. एक अन्य श्रीलंकाई रक्षा सूत्र ने कहा कि पहले हमले के “घंटे भर पहले” एक चेतावनी आई थी.

सवर्णों के वोट के लिए ताल ठोंक रहे राजा भैया ने तब क्या किया था जब सब इंस्पेक्टर “शैलेन्द्र सिंह” की क्षत्राणी पत्नी ने अपने सुहाग के लिए मांगी थी उनसे मदद ?

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने व हमें मज़बूत करने के लिए आर्थिक सहयोग करें।

Paytm – 9540115511

Share This Post