श्रीलंका ब्लास्ट का कश्मीर कनेक्शन.. भारत को दुनिया भर में बदनाम करने की नापाक और खौफनाक साजिश

श्रीलंका आतंकी हमले को लेकर एक ऐसा चौंकाने वाला खुलासा हुआ है, जिससे पूरी दुनिया में भारत की साख पर सवाल खड़े होते हुए नजर आ रहे हैं. अभी तक जिस काम के लिए दुनिया में पाकिस्तान बदनाम है, वही स्थिति भारत के सामने खड़ी हो गई है. खबर के मुताबिक़, श्रीलंका ब्लास्ट का भारत का कनेक्शन सामने आ रहा है. जानकारी मिल रही है कि श्रीलंका में ब्लास्ट करने वाले ट्रेनिंग करने के लिए भारत के कश्मीर तथा केरल आये थे अर्थात भारत में छिपे गद्दार इस्लामिक जिहादियों ने श्रीलंकाई आतंकियों को तैयार किया था.

श्रीलंका आर्मी के मुखिया ने दावा किया है कि 21 अप्रैल को ईस्‍टर के मौके पर हुए आतंकी हमलों में शामिल हमलावर कश्‍मीर आए थे. उनका कहना है कि हमलावरों ने कश्‍मीर में ट्रेनिंग ली थी. श्रीलंकन आर्मी चीफ का कहना है कि हमलावर कश्‍मीर के अलावा केरल भी गए थे. इन हमलों में 253 लोगों की मौत हो गई थी. आर्मी चीफ का कहना है कि इस बात की संभाचना है कि हमलावर कश्‍मीर और केरल में आतंकी गतिविधियों का हिस्‍सा रहे हों.

श्रीलंकन आर्मी के चीफ लेफ्टिनेंट जनरल महेश सेनानायके की ओर से पहली बार इस बात की पुष्टि की गई है कि इस बात की संभावना है कि हमले से पहले आतंकी भारत गए होंगे. अभी तक‍ भारत की जांच एजेंसियां इस तथ्‍य को साबित करने की कोशिशों में लगे हुए थे। भारत इन हमलों की जांच में श्रीलंका की मदद कर रहा है और हमलों के बाद ही भारतीय जांच एजेंसियों ने यह दावा किया था. सेनानायके ने कहा, ‘आतंकी भारत गए थे और हमें जैसी सूचनाएं मिली हैं उसके मुताबिक‍ वे बेंगलुरु, कश्‍मीर और केरल गए थे.’ सेनानायके से जब पूछा गया कि आतंकी क्‍यों भारत गए तो उनका जवाब था कि आतंकी ट्रेनिंग के लिए गए थे या फिर उनका मकसद देश के बाहर संस्‍थाओं के साथ संपर्क बनाना था.

भारत की जांच एजेंसी नेशनल इनवेस्टिगेशन एजेंसी (एनआईए) इन हमलों की जांच में लगी है. एजेंसी की ओर से तमिलनाडु और केरल में छापे मारे गए हैं. कई लोगों को आईएसआईएस के साथ संबंधों के शक के चलते गिरफ्तार किया गया है. इन हमलों की जिम्‍मेदारी आईएसआईएस ने ली है. भारतीय अधिकारियों का कहना है कि कम से कम दो सुसाइड बॉम्‍बर्स साल 2017 में भारत आए थे.

Share This Post