अमेरिका का सनसनीखेज दावा- चीन को तबाह करने की मिसाइल बन रही है भारत में. खुलासे से सहमा है पाकिस्तान भी

चीन और पाकिस्तान के बीच बढ़ती नजदीकियां भारत के लिए खतरे की एक निशानी साबित हो सकती है। चीन और पाकिस्तान के इस रवैये को देखते हुए भारत ने लिमिटेड वॉर की तैयारियां शुरू कर दी है। साथ ही आधुनिक हथियार और गोले बारूद भी खरीद चूका है। अमेरिका ने यह भी दवा किया है कि भारत एक ऐसा मिसाइल बना रहा जिससे एक ही झटके में पूरा चीन का सफाया किया जा सकता है। 
चीन और पाकिस्तान के साथ लगातार सीमा विवाद झेल रहा भारत 40 दिन की लिमिटेड वॉर की तैयारी शुरू कर दी है। भारत अपने न्यूक्लियर सिस्टम को आधुनिकीकरण करने की ओर तेजी से बढ़ रहा है। अमेरिका के दो बड़े न्यूक्लियर विशेषज्ञों का कहना है कि भारत अपने न्यूक्लियर सिस्टम को इस कदर आधुनिक कर रहा है, जिससे पूरे चीन को निशाना बनाया जा सकता है। 
दोनों विशेषज्ञों का आर्टिकल अमेरिका के डिजिटल जर्नल में छपा है, जिसमें बताया गया है कि भारत के पास करीब 600 किलोग्राम वेपन्स-ग्रेड का प्लूटोनियम है। हालांकि, इसमें से सिर्फ 150 से 200 किलो प्लूटोनियम न्यूक्लियर वेपन्स के लिए इस्तेमाल किया जा रहा है। हन्स क्रिसटेंशेन और रॉबर्ट एस नॉरिस ने करीब 120 से 130 शब्दों का आर्टिकल लिखा है। जानकारी के मुताबिक, विशेषज्ञों का कहना है कि ऐसी न्यूक्लियर मिसाइल बनाई जा रही है, जो दक्षिण भारत से निशाना साध कर पूरे चीन का सफाया कर सकती है।
एक्सपर्ट की मानें तो जिस गति से भारत हथियारों का आधुनिकीकरण कर रहा है, इससे अगले दशक के अंदर वो नई क्षमताएं पैदा कर लेगा। उनका दावा है कि भारत के पास मौजूदा समय में सात न्यूक्लियर- सक्षम सिस्टम हैं, जिसमें दो प्लेन, चार जमीनी बैलिस्टिक मिसाइलें और एक समुद्री बैलिस्टिक मिसाइल शामिल हैं। विशेषज्ञों के मुताबिक भारत चार और ऐसे सिस्टम बना रहा है जो जमीन और समुद्र से लंबी दूरी तक हमला करने की क्षमता रख सकेगा।
Share This Post