Breaking News:

अमेरिका में शाहरुख की तलाशी का मचता है शोर पर भारतीय एयरलाइंस के उन अधिकारियों के उस अपमान का क्यों नहीं.. जो उन्हें सहना पड़ता है इस्लामिक मुल्क सऊदी अरब में

कोई भी नियम और कानून सुविधा को मद्देनजर रखते हुए बनाये जाता है, लेकिन सऊदी अरब सरकार के बनाए गए कानून से बाहरी लोगों को परेशानी हो रही है। एयर इंडिया और जेट एयरवेज के क्रू मेंबर जो सऊदी अरब में काम करते हैं, बहुत डरे हुए है। दरअसल, उनके डरने की वजह है सऊदी अरब सरकार का कानून, जो उनका ओरिजिनल पासपोर्ट जब्त कर रही है और फिर जब तक वह सऊदी में रुकते हैं, तब तक यात्रा संबंधी दस्ताऊवेजों के नाम पर सिर्फ फोटोकॉपी ही उनके पास होती है।

उनका यह डर तब और बढ़ गया जब एक एयर इंडिया विमान के तीन क्रू-मेंबर्स को जेद्दाह में हिरासत में ले लिया गया। जेद्दाह में उतरने के बाद क्रू के 3 सदस्य डिनर के लिए गए, जहां सऊदी पुलिस ने परमिट की जांच के लिए उनकी टैक्सी रोक दी। यहां दस्तावेजों की फोटोकॉपी दिखाने पर पुलिस ने उन्हें वैन में बैठा लिया और मोबाइल का इस्तेमाल करने से भी मना कर दिया। हालांकि, किसी तरह क्रू के मेंबर्स ने होटल में कॉल किया और फिर बाकि अपने साथियों को सब कुछ बताया।
जब क्रू-मेंबर्स ने पूछा कि उन्हें क्यों हिरासत में लिया गया है, तो उन्होंने ने बताया कि पुलिस ने कहा कि पासपोर्ट की फोटोकॉपी नहीं चलेगी और चेकिंग के लिए ओरिजनल दस्तावेज दिखाने पड़ेंगे। तकरीबन, तीन घंटे तक चली पूछताछ के बाद उन्हें छोड़ दिया गया। क्रू मेंबर्स का कहना है कि फोटोकॉपी के साथ सऊदी में बाहर निकलने में बहुत खतरा है, जबकि ओरिजनल दस्तावेज वहां की सरकार पहले ही जमा करवा लेती है। वहीं, एयर इंडिया के एक स्थानीय अधिकारी ने बताया कि सऊदी अवैध प्रवासियों को वापस भेजने के लिए एक अभियान चला रहा है, इस वजह से ही चेकिंग बढ़ा दी गई है। 
Share This Post