भारत में ही रहने वाले 2 पाकिस्तानी एजेंट गिरफ्तार हुए.. वो करने वाले थे बहुत बड़ा हमला जिन्हें सेक्यूलर समाज मानता था भाई


उन दोनों ने हिंदुस्तान में जन्म लिया, हिंदुस्तान में पले बढ़े, उन्होंने हिंदुस्तान की सरकार से तमाम सुविधाएं. भारत का कथित सेक्यूलर समाज तथा बुद्धिजीवी उनको भाई मानता था लेकिन उन दोनों के दिल में हिंदुस्तान नहीं बल्कि पाकिस्तान धड़कता था. फिर एकी समय वो आया जब उन्होंने हिंदुस्तान के खिलाफ पाकिस्तान के लिए जासूसी शुरू कर दी ताकि पाकिस्तान अपने इस्लामिक आतंकियों को भारत में घुसपैठ करा सके और वो भारत में आतंकी हमले को अंजाम दे सकें.

खबर के मुताबिक़, भारतीय सेना ने जम्मू-कश्मीर में पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई के दो एजेंटों को पकड़ा है. ये दोनों एजेंट सेना की खुफिया विंग की ओर से पकड़े गए हैं. इन दोनों से जम्मू के ज्वाइंट इंटेरोगेशन सेंटर में पूछताछ चल रही है. पूंछताछ में इन दोनों गद्दारों ने कबूला है कि इनको आईएसआई से काफी पैसा मिलता था. इन दोनों को ये टास्क दिया गया था कि वह जम्मू-पठानकोट हाईवे पर सेना के जितने भी बड़े ठिकाने हैं उनकी वीडियोग्राफी और फोटोग्राफी करके दें.

इसके पीछे का उद्देश्य ये था कि इससे यह पता चल सके कि कौन-कौन से इलाकों में सुरक्षा कम है. अगर इसमें कुछ खामियां हों तो आतंकी उस रास्ते से घुस सकें. सूत्रों के मुताबिक दोनों एजेंटों ने बताया है कि पाकिस्तान में भारत में बड़ा हमला करने की तैयारी की जा रही है. इन्होंने कबूला है कि सीमा पार बैठे आईएसआई के बड़े अधिकारियों और आतंकी संगठनों के सरगना ने जम्मू-पठानकोट हाईवे पर एक बड़े हमले की तैयारी कर रहे हैं. सेना ने इन दोनों को मंगलवार को पकड़ा था. इनके मोबाइल फोन से कई वीडियो बरामद हुए हैं जो इन दोनों ने व्हाट्सएप के जरिए पाकिस्तान आईएसआई के लोगों को भेजे थे


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share